गर्मी से इस वक्त सभी का क्या हाल है ये बताने की जरूरत है। हर कोई पसीना-पसीना हो रहा है …पूरे उत्तर भारत में हाहाकार मचा है और गर्मी से हर कोई बेहाल है। सभी आसमान की ओर टकटकी लगाए देख रहे हैं कि कब इंद्र देव की मेहरबानी हो और लोगों को कुछ राहत मिले। वही अब ख़बर है कि 7 जून को मानसून केरल पहुंच जाएगा। हालांकि अनुमानित तारीख से इस बार मानसून (Monsoon) एक दिन की देरी से केरल राज्य में दस्तक देगा।

मौसम विभाग ने जानकारी दी है कि इस बार मानसून के दस्तक देने में 1 दिन की देरी हो सकती है और ये 7 जून तक पहुंच सकता है। हालांकि पिछले महीने मानसून पहुंचने की अनुमानित तारीख 6 जून बताई गई है। वही मानसून अब कभी भी राज्य में दस्तक दे सकता है तो वही प्री मानसून की बारिश फिलहाल देखने को मिल रही है। लेकिन इस बार प्री मानसून भी कमज़ोर नज़र आ रहा है तो वही मानसून के भी कमज़ोर रहने के संकेत मिल रहे हैं।   

2018 में 3 दिन पहले ही दे दी थी मानसून ने दस्तक

मानसून की बात करें तो बीते साल यानि साल 2018 में अनुमानित तारीख से 3 दिन पहले ही केरल के तट पर मानसून ने दस्तक दे दी थी। पिछले साल 29 मई को मानसून केरल पहुंच गया था जबकि 2016 में 8 जून, 2015 में 6 जून और 2014 में 5 जून को मानसून केरल पहुंचा था।

18 मई को अंडमान-निकोबार पहुंचा था मानसून

वही केरल से पहले 18 मई को मानसून अंडमान और निकोबार द्वीप समूह पहुंच गया था। हालांकि कहा जा रहा है कि इस बार मानसून की रफ्तार काफी धीमी है। 30 मई तक मानसून ने पोर्ट ब्लेयर और बंगाल की खाड़ी में दस्तक दे दी थी। और अब शुक्रवार शाम यानि 7 जून तक मानसून केरल के तट पर दस्तक दे देगा।

 लू की चपेट में है पूरा उत्तर भारत

गर्मी की बात करें तो इस वक्त पूरे उत्तर भारत में भीषण गर्मी का प्रकोप है। राजस्थान समेत कई राज्यों में गर्मी से लोगों की जान भी जा चुकी है। दिन में चल रही लू से रात को भी आराम नहीं है। तापमान काफी बढ़ा है। हालांकि दो दिन पहले कई जगहों पर बारिश से लोगों को कुछ राहत तो मिली थी लेकिन सूर्य देव के प्रकाश के आगे सब बेअसर ही साबित हो रहा है। लोग शाम के वक्त भी घरों में ही कैद होने को मजबूर हैं। ज़रूरी काम होने पर ही लोग घर से निकल रहे हैं।

 

Facebook Comments