देश इस समय कोरोना वायरस के खिलाफ एक जंग लड़ रहा है, और यह जंग देश के हर निवासी के सहयोग के बिना जीतना लगभग नामुमकिन है। पूरे भरात में इस समय 21 दिन का लॉकडाउन चल रहा है। दिहाड़ी मज़दूर हज़ारों की तादाद में पैदल ही अपने घरों की और निकलने के लिए सड़कों पर आ गए हैं।

डब्ल्यूएचओ WHO ने देश के लिए आने वाले दिन काफी गंभीर बताए हैं। ऐसे में प्रधानमंत्री द्वारा शुरू किए गए पीएम केयर्स फंड में कई लोग इस गंभीर महामारी के खिलाफ अपना योगदान देते हुए डोनेशन कर रहे हैं। बता दें कि पीएम केयर्स फंड को सपोर्ट करते हुए आम लोगों के साथ कई बड़े सितारों ने इसमें डोनेशन दिए हैं। इन्हीं के साथ देश के बड़े-बड़े उद्योगपतियों ने भी इस फंड में बड़ा योगदान दिया है। आईए जानते हैं किसने डोनेट किये कितने रुपये?

मुकेश अंबानी

भारत के सबसे अमीर व्यक्ति मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस इंडस्ट्री ने पीएम केयर्स फंड में 500 करोड़ रुपये देने का ऐलान किया है। कोरोना वायरस से जंग के लिए इस राशि का इस्तेमाल संकट के समय किया जाएगा। रिलायंस इंडस्ट्री ने अपने बयान में कहा कि ”500 करोड़ रुपये दान के अलावा रिलायंस ने COVID-19 के इलाज के लिए मुंबई में 100 बेड का एक खास अस्पताल भी तैयार किया है। कंपनी के द्वारा 50 लाख लोगों के लिए भोजन की व्यवस्था की जाएगी। रिलायंस हर रोज़ हेल्थ वर्कर्स और अन्य लोगों को एक लाख मास्क बांटेगी।”

रतन टाटा

रतन टाटा की कंपनी टाटा समूह ने भी पीएम केयर्स फंड में 1500 करोड़ रुपये देने का ऐलान किया है। इस फंड में टाटा ट्रस्ट ने 500 करोड़ रुपए दिए हैं और टाटा होल्डिंग कंपनी टाटा संस ने 1000 करोड़ रुपये दिए हैं। बता दें कि पीएम केयर्स फंड में किया गया दान धारा 80 (G) के तहत कर मुक्त है।

गौतम अडानी

आपको बता दें कि गुजरात के बड़े उद्योगपति गौतम अडानी ने भी कोरोना से जंग के लिए इस केयर्स फंड में 100 करोड़ रुपये देने का ऐलान किया है।

अनिल अग्रवाल

वेदांता समूह के चेयरमैैन अनिल अग्रवाल ने भी पीएम मोदी के इस केयर्स फंड में 100 करोड़ रुपए दान किये हैं। आपको बता दें कि पीएम केयर्स फंड में 100 करोड़ रुपये दान करने वाले वे पहले उद्योगपतियों में से एक थे। इन्होंने ही सबसे पहले इस फंड में अपना योगदान दिया था.

विजय शर्मा शेखर

भारत के सबसे बड़े पेमेंट गेटवे पेटीएम के मालिक विजय शर्मा शेखर ने भी पीएम केयर्स फंड में 500 करोड़ रुपये दान दिए हैं। विजय शर्मा शेखर ने कहा है कि ”पेटीएम के माध्यम से जो उपभोक्ता पेटीएम वॉलेट, यूपीआई और पेमेंट बैंक डेबिट कार्ड का उपयोग कर भुगतान करेगा, कंपनी फंड में 10 रुपये तक अतिरिक्त योगदान करेगी। मतलब पेटीएम के वॉलेट, यूपीआई या पेमेंट बैंक डेबिट कार्ड द्वारा किये गये हर भुगतान के बदले, पेटीएम अपनी ओर से 10 रुपये अतिरिक्त इस फंड में देगा।

सज्जन जिंदल

आपको बता दें कि देश के कई कारोबारी पीएम केयर्स फंड में योगदान देने के लिए आगे आए हैं। जेएसडब्ल्यू ग्रुप के चेयरमैन सज्जन जिंदल ने भी पीएम केयर्स फंड में 100 करोड़ रुपये दान किए हैं। वहीं कोटक महिंद्रा ग्रुप के मालिक उदय कोटक ने भी पीएम केयर्स फंड में 60 करोड़ रुपये देने का ऐलान किया है।

Facebook Comments