Lockdown: कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए देशभर में लॉकडाउन घोषित है। इस लॉकडाउन की वजह से कई मजदूर मेट्रो सिटीज में फंस गए हैं, जिसकी वजह से अब कैसे न कैसे करके लोग अपने घरों की तरफ निकल चुके हैं। अपने घर जाने के लिए मजदूर तरह तरह के उपाय आजमा रहे हैं। फिर चाहे उन्हें पैदल ही क्यों न चलना पड़ रहा हो, लेकिन उनकी आंंखों में घर जाने की एक जिद और जूनून दिखाई दे रहा है। तो चलिए जानते हैं कि लोग घर पहुंचने के लिए कैसे कैसे रास्ते अपना रहे हैं?

New way to reach home in lockdown people are crossing the border
DNA India

जहां एक तरफ भारी संख्या में प्रवासी मजदूर अपने घर पहुंचने के लिए पैदल ही मीलो का सफर तय कर रहे हैं, तो वही दूसरी तरफ कुछ लोग स्मार्ट तरीके से भी पलायन कर रहे हैं, जिसकी भनक सरकार तक को भी नहीं पहुंची। ऐसा ही एक नजारा मध्यप्रदेश में देखने को मिला। दरअसल, मध्यप्रदेश में बायपास पर भारी संख्या में लोग मौजूद थे, जिसमें से कुछ यूपी जाना चाहते थे, तो कुछ कहीं और के थे, ऐसे में कुछ लोगों से बात की गई, तो उन्होंने बायपास क्रास करने का एक अलग ही तरीका बताया। उन्होंने कहा कि पैदल तो बस राज्य का बॉर्डर क्रास करने के लिए चलते हैं।

ऐसे कर रहे हैं लोग बॉर्डर क्रास – Lockdown

रविवार को मध्यप्रदेश के भोपाल बायपास के पास लोगों की भारी भरकम भीड़ देखने को मिली। इस बारे में जब उनसे पूछा गया, तो पता चला कि वे इस राज्य के नहीं है, बल्कि दूसरे अन्य राज्यों से आए हैं और अभी उनका सफर खत्म नहीं हुआ है। इन सबके बीच दिलचस्प बात ये रही है कि जमा हुए लोग दूसरे राज्य से पैदल चलकर नहीं आए थे, बल्कि ट्रक बदल बदल कर आए थे। एक शख्स ने इस पूरे मामले में अपनी चुप्पी तोड़ते हुए पूरे सफर का हाल बताया कि कैसे वे सभी यहां तक पहुंच सके हैं।

New way to reach home in lockdown people are crossing the border
AajTak

अरूण नाम के शख्स ने अपनी बातचीत में बताया कि वह बैंगलोर से उत्तर प्रदेश का सफर तय कर रहा है, जिसके लिए वह 6 दिन पहले ही निकला। ऐसे में जब उससे ये पूछा कि तुम 6 दिन में पैदल पैदल चलते हुए मध्यप्रदेश तक आ पहुंचे हो, तो उसने कहा कि नहीं, हम ट्रक बदलते हुए आए हैं। बैंगलोर से पहला ट्रक पकड़ा, जो महाराष्ट्र तक छोड़ा, उसके बाद वहां से मध्यप्रदेश के लिए और अब उत्तर प्रदेश जाना है।

ट्रक में सफर कर रहे हैं लोग

New way to reach home in lockdown people are crossing the border
AajTak

अरुण ने बताया कि बैंगलोर से महाराष्ट्र तक के लिए उन्होंने ट्रक वाले को 1300 रुपया दिया और उसके बाद महाराष्ट्र से मध्यप्रदेश 300 रुपया दिया। ऐसे में अब देखने वाली बात ये है कि यहां से यूपी के गोरखपुर तक के लिए ट्रक वाला कितना पैसा लेता है। कुल मिलाकर, लोग घर पहुंचने के लिए फिलहाल कुछ भी कर गुजरने के लिए तैयार हैं।

यह भी पढ़े:

25 मार्च से लागू है Lockdown

देशभर में 25 मार्च से लाकडाउन लागू है, जिसे तीन चरणों में किया गया। पहला चरण 25 अप्रैल से शुरु होकर 14 अप्रैल तक चला, तो दूसरा चरण 15 अप्रैल से 3 मई तक लागू हुआ। इसके बाद 4 अप्रैल से 17 मई तक तीसरे चरण की शुरुआत हुई। इतना ही नहीं, अब चौथे चरण की भी स्टोरी लिखी जा रही है, जिस पर जल्द ही ऐलान हो सकता है।

Facebook Comments