Vasant Raiji dies at 100: साल 2020 बहुत से मायनों में बुरा साबित हो रहा है। एक तरफ जहाँ कोरोना वायरस का आतंक खत्म होने का नाम ले रहा है तो वहीं दूसरी तरफ बहुत से दिग्गजों ने इस साल दुनिया को अलविदा भी कहा है। कहीं लोग इस बीमारी से परेशान हैं तो वहीं कुछ लोग अपनों को खोने की वजह से उदास और दुखी हैं। इसी बीच जो खबर आ रही है वो क्रिकेट प्रेमियों के लिए बेहद दुखद हो सकती है। एक महान क्रिकेटर ने दुनिया छोड़ दी है। यहाँ हम आपको इसी महान बल्लेबाज के बारे में बताने जा रहे हैं, आईये जानते हैं कौन थे ये महान बल्लेबाज।

भारत के इस बल्लेबाज ने कहा दुनिया को अलविदा

Vasant Raiji dies at 100
Image Source – ESPN

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, यहाँ हम जिस क्रिकेटर की बात कर रहे हैं वो असल में कोई और नहीं बल्कि भारत के सबसे उम्रदराज क्रिकेटर वसंत रायजी हैं। बता दें कि, इसी साल 26 जनवरी को वसंत रायजी (Vasant Raiji) पूरे सौ साल के हुए थे। भारतीय क्रिकेट जगत में एक अहम् योगदान देने वाले वसंत रायजी से उनके सौवें जन्मदिन पर मिलने मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर और स्टीव वॉ भी पहुंचे थे। गौरतलब है कि, वसंत रायजी सौ साल के थे और बीते शनिवार को रात दो बजकर बीस मिनट पर उनकी मौत हुई। इस बात की पुष्टि वसंत राय जी के परिवार के सदस्यों ने की। बता दें कि, वसंत रायजी (Vasant Raiji) साउथ मुंबई के वालकेश्वर में अपनी पत्नी दो बेटियां और दामाद के साथ रहते थे। मेडिकल रिपोर्ट के अनुसार उनकी मौत नींद में दिल का दौड़ा पड़ने की वजह से हुई।

वसंत रायजी (Vasant Raiji) भारतीय क्रिकेट के स्वर्णिम इतिहास है

आपको बता दें कि, वसंत रायजी (Vasant Raiji) ने अपनी जिंदगी का सबसे पहला क्रिकेट मैच 1940 में प्रथम श्रेणी के नौ मैच खेले जिसमें उन्होंने 277 रन बनाएं थे। उन मैचों में उन्होनें 68 रन लेकर सबसे ज्यादा रन बनाया था। भारतीय क्रिकेट जगत के शुरूआती दिनों के गवाह वसंत रायजी ने महज 13 साल की उम्र में ही अपना पहला मैच साउथ मुंबई के जिमखाना में खेला था। आपको बता दें कि, भारतीय क्रिकेट को काफी करीब से जानने वाले वसंत रायजी शुरूआती दिनों में मुंबई और बड़ौदा के लिए खेला करते थे। चूँकि उस समय क्रिकेट इंडिया में अंग्रेजों का दिया एक नया खेल था इसलिए इसका ज्यादा प्रसार नहीं हुआ था। केवल अंतर्राज्यीय क्रिकेट ही खेले जाते थे या फिर एक शहर से दूसरे शहर के बीच, बाद में इस का प्रसार हुआ। आपको जानकर हैरानी होगी कि, वसंत राय जी के साथ सीके नायडू, विजय हज़ारे और लाला अमरनाथ जैसे बल्लेबाजों ने ड्रेसिंग रूम भी शेयर किया है। क्रिकेट छोड़ने के बाद वसंत रायजी ने बहुत सी किताबें भी लिखी हैं।

यह भी पढ़ें

Facebook Comments