कश्मीर में धारा 370 खत्म होने के बाद सोशल मीडिया पर कई सारे पोस्ट लिखे और शेयर किए जा रहे हैं। इससे जुड़ा एक वीडियो पोस्ट सोशल मीडिया पर खूब शेयर किया जा रहा है। इस वीडियो को जम्मू कश्मीर में धारा 370 खत्म होने वाले मामले से जोड़ते हुए शेयर किया जा रहा है। दरअसल यह वीडियो पुलिस द्वारा लाठी से आज किए जाने का है। वीडियो में दिख रहा है कि पुलिस एक विशेष संप्रदाय के लोगों को दौड़ा-दौड़ा कर पीट रही है। वीडियो को शेयर करते हुए लिखा गया है कि “कश्मीर में प्रसाद बांटना शुरु”।

 

इस वीडियो को फेसबुक पर कई सारे लोगों ने शेयर किया है। इससे पहले कि इस पोस्ट को देखकर आप भी कुछ गलत समझें। आपको बताते हैं कि इस वीडियो की सच्चाई क्या है। सोशल मीडिया पर इस वीडियो के बारे में पड़ताल करने पर जानकारी मिली कि यह वीडियो साल 2015 का है और कश्मीर में धारा 370 खत्म होने से इस वीडियो का कोई संबंध नहीं है। साल 2015 में पटना स्थित करीब 2500 मदरसों की हालत में सुधार की मांग को लेकर मदरसा शिक्षकों ने पटना के गर्दनीबाग स्टेडियम में प्रदर्शन किया था। इस दौरान शिक्षकों का उग्र रूप देखने के बाद पुलिस ने वहां लाठीचार्ज कर दिया था। अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक यह शिक्षक ‘ऑल इंडिया मुस्लिम मजलिस-ए-मुशावरत’ (AIMMM) और मदरसा शिक्षकों के समर्थक थे, जिन्होंने कथित तौर पर पुलिस द्वारा रोके जाने पर मुख्यमंत्री के घर जाने की कोशिश की थी।

fake-news-patnaअंत में जब हालात काबू से बाहर हुए तब पुलिस को शिक्षकों की भीड़ को रोकने के लिए लाठी चार्ज करनी पड़ी। इस दौरान कई शिक्षक घायल भी हो गए थें। लेकिन इन दिनों सोशल मीडिया पर इस वीडियो को किसी और ही मामले से जोड़ने की कोशिश की जा रही है। जम्मू कश्मीर में धारा 370 खत्म हो जाने के मामले से इसे जोड़ते हुए यह दिखाने की कोशिश की जा रही है कि वहां इस धारा के हटने के बाद मुसलमानों को पुलिस द्वारा बुरी तरह से पीटा जा रहा है।

Facebook Comments