PM Modi: कोरोना संक्रमण के मामलों की संख्या देशभर में 5 हजार 500 को भी पार कर चुकी है। कोरोना के संक्रमण को देखते हुए केंद्र सरकार के साथ राज्य सरकारें भी अब चिंतित नजर आ रही हैं। इसी बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बीते बुधवार को देशभर के 16 विपक्षी दलों के सांसदों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए बैठक की है। इस बैठक में सांसदों को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि पूरी दुनिया इस वक्त गंभीर कोरोना संकट का सामना कर रही है। उन्होंने यह भी कहा कि देश में इस वक्त सोशल इमरजेंसी जैसे हालात पैदा हो गए हैं।

PM Modi – लॉकडाउन बढ़ने के पूरे आसार

पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना वायरस जिस तेजी से अपने पांव पसार रहा है, ऐसे में सरकार को कड़े फैसले लेने के लिए मजबूर होना पड़ा है। आगे भी सभी को सतर्क रहने की बहुत जरूरत है। उन्होंने कहा कि कई राज्य सरकारों के साथ विशेषज्ञों की ओर से भी लॉकडाउन की मियाद को आगे बढ़ाए जाने का सुझाव उन्हें प्राप्त हुआ है। प्रधानमंत्री के साथ इस बैठक के बाद बीजद सांसद पिनाकी मिश्रा की ओर से भी यही दावा किया गया कि प्रधानमंत्री की ओर से यह साफ कर दिया गया है कि लॉकडाउन एक बार में तो नहीं हटाया जाएगा। कांग्रेस संसदीय दल के नेता अधीर रंजन चौधरी के हवाले से भी यही बताया गया है कि सरकार 14 अप्रैल के आगे भी लॉकडाउन को बढ़ा सकती है।

ये हैं लॉकडाउन को बढ़ाने के पक्ष में

pm modi state governments have suggested increasing the lockdown
Bhaskar

प्रधानमंत्री वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए 11 अप्रैल को सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक करने वाले हैं। दूसरी ओर कैबिनेट बैठक में भी पीएम मोदी की ओर से यही संकेत दिया गया था कि लॉकडाउन एक साथ तो नहीं हटाया जाएगा। पांच राज्यों राजस्थान, केरल, तेलंगाना, महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री लॉकडाउन को आगे बढ़ाए जाने के पक्ष में हैं।

यह भी पढ़े

स्वास्थ्य मंत्रालय का बयान- कोरोना संक्रमण के दूसरे और तीसरे चरण के बीच में भारत

इन मुद्दों पर हुई चर्चा

लॉकडाउन बढ़ेगा या नहीं, इसे लेकर फिलहाल स्थिति साफ नहीं है। सूत्रों के हवाले से बताया गया है कि विपक्षी दलों के सांसदों के साथ बैठक में पीएम मोदी ने लॉकडाउन को हटाए जाने एवं सांसद निधि में कटौती के बारे में बात की है। गौरतलब है कि सांसद निधि में कटौती पर कांग्रेस के साथ विपक्षी दलों के कई सांसदों की ओर से नाराजगी जाहिर की गई थी।

Facebook Comments