Narendra Modi: कोरोना संकट के बीच देश की अर्थव्यवस्था पूरी तरह से बिखर चुकी है, जिसको पटरी पर लाने के लिए केंद्र सरकार के सामने कई चुनौतियां हैं। इन्हीं तमाम चुनौतियों का सामना करते हुए मोदी सरकार अर्थव्यवस्था में जान फूंकने की कोशिश कर रही है। जी हां, मोदी सरकार की तरफ से आत्मनिर्भर भारत अभियान की शुरुआत की गई है, जिसके बाद अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने की बात कही जा रही है।

मंगलवार को पीएम मोदी ने भारतीय उद्योग परिसंघ (CII) के सालाना कार्यक्रम को संबोधित किया, जिसमें उन्होंने कोरोना संकट से लेकर अर्थव्यवस्था तक पर भी चर्चा की। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के इस संकट में इस तरह के ऑनलाइन इवेंट शायद यही एक न्यू नॉर्मल है, लेकिन ये हमारी सबसे बड़ी ताकत है, जिसकी वजह से हमने लड़ने में काफी हद तक सफल रहे।

अर्थव्यवस्था पर देना है फोकस (PM Narendra Modi Address CII Meet)

कार्यक्रम में पीएम मोदी ने आगे कहा कि कोरोना वायरस से लड़ने के साथ साथ हमें अर्थव्यवस्था पर भी फोकस करना है, ताकि धीरे धीरे सबकुछ ठीक सके। इतना ही नहीं, उन्होंने कहा कि हमें विश्वास है कि हम अपनी अर्थव्यवस्था की तेज रफ्तार को वापस लाएंगे। बता दें कि पीएम मोदी ने आत्मनिर्भर भारत पर भी जोर दिया।

अनलॉक फेज़ में घुस चुका है भारत

पीएम मोदी ने अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए कहा कि मुझे देश की क्षमता, टैलेंट और टेक्नोलॉजी पर भरोसा है, जिसकी वजह से हम अपनी अर्थव्यवस्था को आसानी से सुधार सकेंगे। साथ ही उन्होंने कहा कि कोरोना ने भले ही हमारी स्पीड कम की हो, लेकिन अब भारत अनलॉक के फेज़ में घुस चुका है, जिसके बाद धीरे धीरे स्थितियां नॉर्मल होती जाएंगी।

कई देशों के मुकाबले भारत की स्थिति बेहतर

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि जब दुनिया में कोरोना वायरस का कहर तेज़ी से बढ़ रहा था, तब भारत ने बड़े फैसले लिए और वक्त रहते ही लॉकडाउन घोषित कर दिया, जिसकी वजह से आज कई देशों के मुकाबले भारत की स्थिति अच्छी है। इस दौरान उन्होंने प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के बारे में भी खुलकर बातचीत की। बता दें कि केंद्र सरकार ने आर्थिक पैकेज की घोषणा की है, जिससे समाज के हर तबके के लोगों को काफी फायदा मिलने की उम्मीद जताई जा रही है।

Facebook Comments