Delhi Border Seal: कोरोना वैश्विक महामारी से पीड़ित मरीजों के आंकड़े दिनों दिन भयावह होते जा रहे हैं। इसी के मद्दनेजर दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने राजधानी के सभी बॉर्डर को सील करने की घोषणा कर दी है। दिल्ली सरकार के फैसले के अनुसार, दिल्ली से सटे राज्यों मसलन, उत्तर प्रदेश और हरियाणा के बॉर्डर आने वाले 7 दिनों तक सील रहेंगे। हालांकि, जरूरी सेवाओं से जुड़े लोगों को पास जारी किया जाएगा।

आने वाले सप्ताह में दिल्ली से सटे शहरों में लोगों को किन समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है, चलिए इस पर निगाह डाल लेते हैं…

केजरीवील सरकार का बड़ा फैसला (Delhi Border Seal till 8th june Said Arvind Kejriwal Lockdown)

केजरीवाल सरकार के फैसले के तहत दिल्ली से सटे दूसरे शहरों से यानी नोएडा, गाजियाबाद, गुरूग्राम, फरीदाबाद के लोगों को राजधानी दिल्ली में एंट्री नहीं दी जाएगी।

आने वाले एक सप्ताह तक बॉर्डर सील रहेंगे। इस दौरान सिर्फ जरूरी सेवाओं से जुड़े लोगों को ही दिल्ली में एंट्री दी जाएगी। यानी जिन लोगों के पास प्रशासन की ओर से जारी किए गए पास होंगे, सिर्फ उन्हें ही दिल्ली में एंट्री मिलेगी।

सरकार ने अपने इस फैसले को आगे जारी रखने के लिए लोगों से सुझाव मांगे हैं। दिल्ली वासियों से पूछा गया है कि क्या दिल्ली के बॉर्डर को आगे भी सील रखा जाना चाहिए?

केजरीवाल सरकार ने ये फैसला भी लिया है कि अब डीटीसी की बसें गुरूग्राम और नोएडा के लिए नहीं चलेंगी। डीटीसी बसों का संचालन सिर्फ दिल्ली के अंदर ही होगा।

Delhi Border Seal till 8th june Said Arvind Kejriwal Lockdown
India

गुरूग्राम फरीदाबाद से कैसे आएंगे लोग?

जैसे कि आप सबको पता है, देश में आज से अनलॉक 1 लागू है। इसी के तहत हरियाणा सरकार ने दिल्ली बॉर्डर को खोलने का फैसला लिया था। यानी गुरूग्राम फरीदाबाद से लोग आसानी से अपने निजी और सार्वजनिक वाहनों से आ जा सकते थे।

दिल्ली में गुरूग्राम फरीदाबाद से काफी लोग कामकाज के सिलिसिले में आते हैं। वहीं दूसरी तरफ दिल्ली सरकार के बॉर्डर सील के फैसलों के बॉर्डर में आने वाले दिनों में भारी जाम देखने को मिल सकता है।

यूपी बॉर्डर भी सील

उत्तर प्रदेश के नोएडा और गाजियाबाद राजधानी से सटे हुए शहर हैं। अब जब देशव्यापी अनलॉक 1 लागू किया गया है, फिर भी इन दोनों शहरों ने दिल्ली बॉर्डर को सील रखने का फैसला लिया है। दूसरी तरफ दिल्ली सरकार ने भी अब बॉर्डर को सील करने का फैसला कर दिया है। यानी, अब अगर किसी को नोएडा से दिल्ली आना है, तो उसे प्रशासन की तरफ से जारी पास दिखाना जरूरी होगा।

बता दें कि, ई पास डीएम ऑफिस और आरोग्य सेतु ऐप से अप्लाई किया जा सकता है। चलते चलते बता दें कि, दिल्ली सरकार के इस फैसले के बाद सोमवार को दिल्ली गाजियाबाद बॉर्डर पर गाड़ियों का लंबा जाम दिखा और लोगों को काफी परेशानियों का सामना भी करना पड़ा है।

Facebook Comments