World Health Organization: वर्तमान में पूरी दुनिया का केवल एक ही मकसद है कोरोना वायरस से किसी भी तरह बचना। सोमवार को विश्व स्वास्थ्य संगठन ने बयान जारी कर दुनिया को सचेत किया कि, कोरोना वायरस के मामले पूरी दुनिया में दिन बा दिन तेजी से बढ़ रहे हैं। अगर इस पर काबू नहीं पाया गया और बचाव के निर्देशों का पालन नहीं किया गया तो परिणाम काफी खतरनाक साबित हो सकते हैं।

इस दौरान एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के चीफ़ ने बताया कि, भले ही इस महामारी से बचने के लिए अब तक कोई भी वैक्सीन नहीं बन पाया हो लेकिन इस पर काबू पाया जा सकता है। उन्होनें इस पर काबू पाने के लिए फुटबॉल की कुछ तकनीकों का भी ज़िक्र किया है। आइये आपको बताते हैं इस बाबत WHO चीफ़ फुटबॉल की कौन सी तकनीक के बारे में बताया है।

कोरोना वायरस से लड़ने के लिए नई जागरूकता अभियान की शुरुआत की गई

बीते दिनों विश्व स्वास्थ्य संगठन के चीफ़ टेड्रोस गेब्रयासस ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के ज़रिए इस बात की जानकारी दी है कि, कोरोना वायरस का प्रसार काफी तेजी से बढ़ रहा है। अगर वक़्त रहते बचाव के निर्देशों का पालन कर इस पर काबू नहीं पाया गया तो स्थिति काफी खराब हो सकती है। इस परिस्थिति से निपटने के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन के चीफ़ ने कहा है कि, हम एक नई जागरूकता अभियान की शुरुआत करने जा रहे हैं जिसमें लोगों को बचाने के लिए फुटबॉल की तक़नीक का इस्तेमाल किया जाएगा। इस अभियान में WHO ने दुनिया भर के मशहूर फुटबाल खिलाड़ियों को लोगों को इस बीमारी से बचाने के लिए पांच फुटबाल की तकनीकों को बताने का निर्देश दिया है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इन पांच निर्देशों का पालन करने की अपील की (World Health Organization)

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, विश्व स्वास्थ्य संगठन ने अपने प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए बताया है कि, WHO और फ़ीफा के कुछ प्रमुख खिलाड़ियों ने मिलकर एक नए अभियान की शुरुआत की है। कोरोना वायरस से जंग के खिलाफ इस नए अभियान में फुटबॉल के कुछ पांच नियमों को दुनिया को बताया जाएगा। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, विश्व स्वास्थ्य संगठन ने अपने इस अभियान का नाम “पास दी मेसैज तो किक आउट कोरोना” रखा है। इस अभियान के जरिए लोगों में कोरोना वायरस के प्रति जागरूकता फैलाने के लिए पांच प्रमुख चरणों को बढ़ावा दिया जा रहा है।

ये सभी पांच चरण हैं, हाथों की सफाई, छींकने और खांसने के बाद अपनाएं जाने वाले प्रिकॉशन, शारीरिक दूरी बनाकर रखना, चेहरे को बार-बार ना छूना आदि शामिल होगा। इसके साथ ही साथ यदि आप शारीरिक रूप से खुद को अस्वस्थ्य महसूस कर रहे हैं तो घर पर रहने की अपील भी इस अभियान के जरिए लोगों से की जा रही है।

यह भी पढ़े

कोरोना वायरस से है बचना तो जानें हाथ धोने के सही तरीके, WHO के इन निर्देशों का करें पालन !

13 भाषाओं में वीडियो मेसैज के जरिए दी जा रही है जानकारी

बता दें कि, विश्व स्वास्थ्य संगठन के इस अभियान को कुल 13 भाषाओं में रिकॉर्ड किया गया है, जिसकी जानकारी एक वीडियो मेसैज के जरिए लोगों को दी जा रही है। इस अभियान में फुटबाल के कुल 28 खिलाड़ियों को शामिल किया गया है। मेसी, फिलिप लाहम, कार्ल्स पियोल, इकर कैसिलास के साथ ही साथ भारतीय फुटबाल टीम के पूर्व कप्तान छेत्री को भी शामिल किया गया है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुख्यालय जेनेवा से शुरुआत होने वाले इस अभियान के बारे में WHO के डायरेक्टर जेनरल ने बयान जारी करते हुए कहा है कि, इस महामारी से बचने के लिए शुरुआत से ही फीफा के अध्यक्ष और उसके प्रमुख खिलाड़ी साथ रहे हैं।

जियानी इन्फिटेनो फीफा के अध्यक्ष ने इस बाबत कहा कि “दुनिया को इस महामारी से बचाने के लिए लोगों को एकजुट होकर टीम वर्क करने की आवश्यकता है।” उन्होनें कहा की इस दौरान लोगों को सुरक्षा के सभी निर्देशों को पालन करना होगा। एक दूसरे से दूरी बनाकर रखें और WHO के निर्देशों का जरूर पालन करें। इन्फिटेनो ने दुनिया के सभी फुटबाल टीम के खिलाड़ियों से इस जागरूकता अभियान में शामिल होने की अपील की है।

Facebook Comments