China Supplied Substandard PPE Kits to India: पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्विपमेंट (PPE) की भारत को इस वक्त कोरोना के खिलाफ जंग में बहुत जरूरत है। भारत में इसकी कमी को देखते हुए चीन से इसे मंगाए जाने के ऑर्डर दिए गए थे। ऐसे में इससे जुड़े एक व्यक्ति के हवाले से एक मीडिया रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई है कि चीन से जो सुरक्षा उपकरण भारत पहुंचे हैं, वे बेहद घटिया किस्म के हैं और सुरक्षा जांच में वे फेल हो गए हैं। चीन से 6.5 लाख टेस्टिंग किट का भी एक कंसाइनमेंट गुरुवार को भारत पहुंचने के आसार हैं।

यहां से आ रहे किट्स

china supplied substandard ppe kits to india
dawn

बताया जा रहा है कि ग्वांगझू वोंडफो से जहां तीन लाख, वहीं झुहाई लिवजोन से 2.5 लाख रैपिड ऐंटी-बॉडी टेस्टिंग किट्स भारत भेजे जा रहे हैं। एमजीआई शेनजेन से भी एक लाख की संख्या में भारत को आरएनए एक्स्ट्रेक्शन किट्स की सप्लाई गुरुवार को भारत को की जा रही है। सूत्रों के हवाले से रिपोर्ट में बताया गया है कि बुधवार देर रात को इन कंसाइनमेंट्स के लिए कस्टम क्लियरेंस भी दे दिया गया था, जिसके बाद गुरुवार को भारत के लिए ये हवाई जहाज सामान लेकर रवाना भी हो चुके हैं।

दुनिया के साथ मजाक

कोरोना के संकट से निपटने के लिए इस वक्त पूरी दुनिया को चीन से मदद लेनी पड़ रही है, लेकिन चीन से जो सुरक्षा उपकरणों की सप्लाई इस वक्त दुनिया के अलग-अलग देशों को की जा रही है, वे बेहद घटिया क्वालिटी के हैं। बीते दिनों ही चीन के पाकिस्तान को अंडरवियर से बने मास्क सप्लाई करने की खबरें सामने आई थीं। सोशल मीडिया में भी बहुत से ऐसे वीडियो वायरल हुए हैं, जिनमें यह देखा गया है कि चीन के द्वारा बनाए गए PPE किट पहनने के बाद तुरंत फट जा रहे हैं। ऐसे में इसी तरह का घटिया मजाक चीन ने भारत के साथ भी किया है।

जांच में विफल

चीन से भारत में गत 5 अप्रैल तक लगभग करीब 1.70 लाख PPE किट की सप्लाई पहुंची थी। बताया जा रहा है कि इनमें से 50 हजार किट क्वॉलिटी टेस्ट को पार नहीं कर सके हैं। सूत्रों के मुताबिक 30 और 10 हजार के PPE किट के दो छोटे-छोटे कंसाइनमेंट्स के साथ भी ऐसा ही हुआ है। डिफेंस रिसर्च ऐंड डिवेलपमेंट ऑर्गनाइजेशन (DRDO) के ग्वालियर में बने लैबोरेटरी में इनकी जांच हुई थी।

Facebook Comments