Kim Jong Health: उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन गंभीर रूप से बीमार हैं। मीडिया में उनके ब्रेन डेड होने की भी अटकलें लगाई जा रही हैं। दुनिया भर की मीडिया, उनकी हालत पर कड़ी नजर बनाए हुए है। कई मीडिया रिपोर्ट्स का मानना है कि उनकी सर्जरी कराई गई थी, लेकिन सर्जरी सफल नहीं होने की वजह से किम जोंग उन की हालत काफी गंभीर बनी हुई है। हालांकि, अभी उत्तर कोरिया की ओर से इस बारे में कोई भी आधिकारिक जानकारी सामने नहीं आई है। वहीं, अमेरिकी मीडिया तो ये तक कह रहा है कि उनकी दिल की सर्जरी की गई है, जो सफल नहीं हुई है। कहा जा रहा है कि तानाशाह नेता किम जोंग उन की हालत अभी भी काफी नाजुक है और उनकी मौत भी हो सकती है। हालांकि किम जोंग उन का इलाज उनके निजी डॉक्टरों की देखरेख में हो रही ह

Kim Jong Healthनिजी अस्पताल में हुई सर्जरी

नॉर्थ कोरिया के तानाशाह शासक की सर्जरी हयांग सैन में हुई है, जबकि सवाल ये उठ रहे हैं कि उनका इलाज उत्तर कोरिया की राजधानी प्योंगयोंग में क्यों नहीं हुआ? रिपोर्ट्स के मुताबिक, हयांग सैन के जिस अस्पताल में नॉर्थ कोरिया के शासक की सर्जरी हुई है, वह अस्पताल किम जोंग के परिवार के लिए ही बनाया गया था। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि किम की हालत साल 2014 से खराब है और वे तब से यहीं इलाज करवा रहे हैं। इस अस्पताल का निर्माण किम के दादा के मौत के बाद किया गया था। ऐसा माना जाता है कि यह अस्पताल नॉर्थ कोरिया की राजधानी प्योंगयोंग में न बनकर हयांग सैन में इसलिए बनाया गया, ताकि दुनिया के किसी दूसरे देश को इसका पता न चल सके।

यह भी पढ़े उत्तर कोरिया का दावा- नहीं है एक भी कोरोनावायरस का मरीज, आखिर क्या है सच्चाई?

किम के लिए खास सुविधाएं

2014 से किम जोन उन को हार्ट की बीमारी है। किम के बीमारी के बाद से उनके इलाज से जुड़ी सारी सुविधाएं की गई हैं। बता दें कि इस अस्पताल के सारे इक्वीपमेंट जर्मनी और जापान से मंगाए गए हैं और जो डॉक्टर तानाशाह नेता का इलाज करते हैं, वे हार्ट की बीमारी के विशेषज्ञ हैं। डॉक्टरों को स्पेशल ट्रेनिंग के लिए जर्मनी भेजा गया था, ताकि किम के इलाज में कोई कसर न रह जाए। इन डॉक्टरों की चयन प्रक्रिया स्पेशल तरीके से हुई थी, ये डॉक्टर पहले यू के एक हॉस्पिटल में काम करते थे। इसके बाद उन्हें स्पेशल सेलेक्शन प्रक्रिया के तहत चुना गया है।

डॉक्टरों का बॉडी गार्ड

जो डॉक्टर किम जोन उन का इलाज कर रहे हैं, उन्हें स्पेशल अंगरक्षक (बॉडी गार्ड) सरकार की ओर से दिया गया है। बॉडी गार्ड के अलावा उन्हें नॉर्थ कोरिया की राजधानी प्योंगयोंग में आवासीय सुविधा (घर) भी दी गई है। इन डॉक्टरों को वैक्सीन और दवाओं आदि की क्लिनिकल ट्रायल की खुली छूट दी गई है, ताकि किम जोंग का बेहतर से बेहतर इलाज किया जा सके। किम को किसी भी तरह की तकलीफ न हो, इस बात का खास ख्याल जा रहा है। कुल मिलाकर, किम का पूरी तरह से ख्याल रखा जा रहा है।

Facebook Comments