North Korea Coronavirus: उत्तर कोरिया की सीमा चीन और दक्षिण कोरिया से लगी हुई है, जहां कोरोनावायरस की स्थिति बेहद गंभीर है। फिर भी उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन का यह दावा है कि उत्तर कोरिया में कोरोनावायरस के संक्रमण के एक भी मामले सामने नहीं आए हैं। जनवरी में ही उत्तर कोरिया ने अपनी सीमाओं को सील कर दिया था, जिससे कि यहां पर्यटन और व्यापार पर भी लगभग बंद हो गए थे।

अमेरिका ने जताई आशंका

हालांकि, अमेरिका को इस बात पर यकीन नहीं है। कोरिया के यूएस फोर्सेज के कमांडर जनरल रॉबर्ट अब्राम्स ने टेलीकॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हाल ही में संवाददाताओं के साथ बातचीत में कहा है कि जिस तरीके से उत्तर कोरिया की सैनिक गतिविधियों में कमी आई है, वह इस बात की ओर इशारा कर रहा है कि उत्तर कोरिया में भी कोरोनावायरस के संक्रमण के मामले सामने आ चुके हैं। अब्राम्स ने कहा है कि कोरिया में पिछले 30 दिनों से सैन्य गतिविधियां पूरी तरह से शांत रही हैं। बस कुछ दिनों से उन्होंने इसे दोबारा शुरू किया है। अब्राम्स के मुताबिक पिछले 24 दिनों से कोरिया में किसी भी विमान ने उड़ान नहीं भरी है।

मंडरा रहा खतरा (North Korea Coronavirus)

यूएस कमांडर की ओर से कहा गया है कि उत्तर कोरिया में स्वास्थ्य सेवाओं की हालत खराब है। कई दशकों से व्यापार पर भी कई तरह के प्रतिबंध तो लगे ही हुए हैं। साथ में वित्तीय स्थिति भी उचित प्रबंधन नहीं किए जाने की वजह से चरमराई हुई है। ऐसे में यहां की 40 फ़ीसदी आबादी को ठीक तरीके से पोषण नहीं मिलता रहा है और उस पर कोरोनावायरस की चपेट में आने का खतरा मंडरा रहा है। उत्तर कोरिया में कोरोनावायरस की वजह से हाहाकार मच सकता है और बड़ी तादाद में इसकी वजह से यहां लोगों की जान जा सकती है।

सीमावर्ती शहरों की स्थिति

भले ही चीन के साथ लगने वाली सीमाओं पर उत्तर कोरिया ने बड़ी संख्या में सैन्य बलों की तैनाती कर रखी है, फिर भी ब्लैक मार्केट के जरिए देश में कोरोनावायरस का संक्रमण पहुंचने की आशंका जताई जा रही है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार चीन के दो बड़े शहर लियोनिंग (Liaoning) और जिलिन (Jilin) जो कि उत्तर कोरिया की सीमा से सटे हुए हैं, यहां पिछले हफ्ते कोरोनावायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या 225 थी, जो कि बहुत कम है।

Facebook Comments