Driving Licence Kaise Banaye: 1 सितम्बर 2019 से लागु मोटर वेहिकल एक्ट के पश्चात लोगो मे ड्राइविग लाइसेंस को लेकर जागरूकता देखी गयी है। अत आज हम इसकी प्रक्रिया आप सभी को बताना चाहते है। ड्राईविग लाइसेंस दो चारणो मे बनता है। पहला तो लर्नर लाइसेस उसके बाद पक्का लाइसेंस। प्रशिछु लाइसेंस बनवाने की नयूनतम आयु सीमा 16 वर्ष की है। जो 50 cc के हल्की स्कुटर के लिए जारी किया जाता है। इस लाइसेंस की 6 महीने की अवधि के बाद पक्की लाइसेंस बनवाया जा सकता है।

लाइसेंस बनवाने के लिए आवश्यक दस्तावेजो ये है (Driving Licence ke liye Jaruri Dastavej)

1- फार्म -1
2- आयु प्रमाण पत्र (जन्म तिशि वाली बोडे परीछा की अंकसुची, पासपोर्ट या न्यायलय का शपथ पत्र को मान्यता प्राप्त है.)
3- निवास प्रमाण के रूप मे आधार कार्ड को सम्पूर्ण भारत मे मान्यता प्राप्त है. इसकी आधिकारिक वेबसाइट https://sarathi.parivahan.gov.in है।

इसमे प्रशिछु लाइसेंस के लिए पंजीकरण करने की प्रक्रिया के तीन भाग होते है।

1- आवेदन पत्र
2- दस्तावेज
3- शुल्क जमा
4- परीछण का समय निर्धारण.

आवेदन शुल्क 220 रूपये है जो इन्टरनेट बैकिंग द्वारा जमा किये जाते है। जिसके बाद परीछण के लिए निम्न दस्तावेज साथ लेकर जाने है।

1- फार्म 1-3 पेज
2- फार्म 1
3- अपॉइन्टमेन्ट लेटर
4 – लगाये गये सभी वास्तविक दस्तावेज
5 – इनरॉलमेन्ट स्लिप

आर टी ओ मे ड्राईविग से रिलेटेड सवाल पूछे जाते है. जिनकी सरलता से आनलाईन तैयारी की जा सकती है. इस परीछण के बाद लगभग 15 दिनो के बाद आपका प्रशिछु लाइसेंस बन जाता है। तथा इसके 1 महीने के बाद आप अपने ड्राइविग लाइसेंस के लिए आवेदन कर सकते है।

पक्के लाइसेंस की प्रक्रिया भी कच्चे लाइसेंस के समान है। इसमे आपको अधिक शक्ति वाले वाहनो को चलाने का अधिकार मिल जाता है। इसके आवेदन मे केवल लर्नर लाइसेंस तथा आधार कार्ड की आवश्यकता पडती है. तथा इसका आवेदन शुल्क 1000 रूपये होता है। आवेदन क्रमांक भिन्न होता है इसका ड्राईविग टेस्ट के समय लर्नर लाइसेंस की भॉति सभी दस्तावेज ले जाने पडते है। सम्बन्धित टेस्ट के बाद 15 दिन या एक महीने के भीतर लाइसेंस आधार कार्ड के पते पर आ जाता है। उम्मीद है कि हमारे लेख से आपको आवश्यक जानकारी मिल गयी होगी।

Facebook Comments
Summary