भई…त्यौहारों और शादियों का सीज़न शुरू होने वाला है। नवरात्र, दीवाली, भैया दूज…और फिर कभी किसी सहेली की शादी तो कभी कजिन की। ऐसे में लड़कियों का सजना संवरना तो बनता ही है। और त्यौहार हो या फिर कोई शादी….आपकी सुंदरता में चार चांद लगाती है जूलरी। जी हां…आजकल बेहद ही डिफरेंट जूलरी चलन में है, हर कोई सबसे अलग दिखना चाहता है इसलिए मार्केट में अलग-अलग डिज़ाइन की भरमार है। लेकिन इस फेस्टिव व वेडिंग सीज़न अगर आप चाहती हैं ट्रेडिशनल लुक.. तो पोल्की (polki) व कुंदन(Kundan) ज्वैलरी से बेस्ट और कुछ नहीं। क्योंकि ये आपके लुक को पूरा करने में कोई कोर कसर बाकी नहीं छोड़ेंगे। एक कम्प्लीट ट्रेडिशनल लुक के लिए इनसे बेहतर कोई ऑप्शन नहीं होता। लेकिन इन दोनों में आपके लिए कौन सी जूलरी सबसे बेस्ट है…ये भी जानना बेहद जरूरी है। तो चलिए बताते हैं आपको दोनों ही जूलरी की खासियत…ताकि आप अपने लिए सही फैसला आसानी से कर पाएं।

कुंदन व पोल्की जूलरी में बुनियादी फर्क(Difference between Polki and Kundan)

shaadisaga
  • कुंदन मुगल दौर की प्रचलित स्टाइल पर आधारित जूलरी है को वहीं ‘पोल्की’ मशहूर राजस्थानी स्टाइल की पहचान है। यानि दोनों जूलरी की अपनी अलग अलग विरासत है। और ये अपने -अपने समय की धरोहर भी हैं।

  • पोल्की को अनकट डायमंड्स के ज़रिए बनाया जाता है। यानि पोल्की में उन डायमंड्स का इस्तेमाल होता है  जो नैचुरल शेप्स में मिलते हैं और जिन्हें पॉलिशिंग या फिनिशिंग की ज़रूरत नहीं होती। इन्हें जमीन से खुदाई करके निकालने के बाद सीधे जूलरी में इस्तेमाल कर लिया जाता है। जबकि कुंदन को बनाने के लिए ग्लास स्टोन्स का इस्तेमाल होता है। यही कारण है कि पोल्की की चमक कुंदन से कहीं ज्यादा होती है और इसीलिए ये कुंदन से ज्यादा महंगी होती है।

  • पोल्की जूलरी को गोल्ड में अनकट डायमंड्स के साथ तैयार किया जाता है। जिसमें गोल्ड फॉइल और लाक का भी प्रयोग होता है। जब शुद्ध सोने के फॉइल पर हीरे रखे जाते हैं तो रोशनी पड़ने पर ये अपनी चमक बिखेरते हैं। डायमंड्स के साथ-साथ गोल्ड जूलरी में मोती और अन्य कीमती पत्थरों को भी सेट किया जाता है। वहीं सबसे खास बात ये है कि पोल्की के साथ कुंदन का इस्तेमाल भी किया जा सकता है।

  • वहीं कुंदन जूलरी की बात करें तो बेस बनाने के लिए गोल्ड को स्ट्रिप्स में काटकर मनपसंद आकार दिया जाता है। इसके बाद ग्लास स्टोन्स- एमरल्ड, रूबी, सफायर जैसे रत्नों को  बेस पर सैट किया जाता है और कुंदन तैयार होता है। पोल्की से इतर इसमें सोना ज्यादा मात्रा में इस्तेमाल नहीं होता है। क्योंकि इसमें गोल्ड की जगह दूसरी धातुओं का भी इस्तेमाल किया जा सकता है।  इसलिए ये पोल्की से सस्ता भी होता है।

बॉलीवुड दीवाज़ की भी खास पसंद है पोल्की

the stateman

हाल ही में जितनी भी शादियां बॉलीवुड में हुई…इनमें अधिकतर अभिनेत्रियों ने पोल्की जूलरी को ही वरीयता दी है। यानि कि बॉलीवुड एक्ट्रेस के बीच भी पोल्की जूलरी डिज़ाइन काफी पोपुलर है। कुछ साल पहले तक अभिनेत्रियों की पसंद कुंदन पर टिकी थी, ऐश्वर्या राय हो या शिल्पा शेट्टी सभी ने कुंदन को प्रेफर किया था लेकिन अब उनका झुकाव पोल्की की तरफ बढ़ा है। अनुष्का शर्मा से लेकर दीपिका पादुकोण तक सभी ने पोल्की जूलरी को ही अपने सबसे खास दिन यानि अपनी शादी के लिए चुना। तो अगर आप भी इस सीज़न बनने वाली हैं दुल्हन तो पोल्की आपके लिए बेस्ट ऑप्शन हो सकता है। इसके अलावा अगर आप कुछ क्लासी ट्राई करना चाहती हैं तो डायमंड से बेहतर भला और क्या होगा।

Facebook Comments