(Benefits of Liquorice) मुलेठी एक आयुर्वेदिक जड़ी बूटी है। मुलेठी सिर्फ खांसी या गले को ठीक करने में फायदेमंद मानी जाती है, आयुर्वेद में मुलेठी का इस्तेमाल आंखों के रोग, मुंह के रोग, गले के रोग, दमा, दिल के रोग, घाव के उपचार के लिए किया जा रहा है। स्वाद से मीठी मुलेठी में कैल्शियम, ग्लिसराइजिक एसिड, एंटी-ऑक्सीडेंट, एंटीबायोटिक, प्रोटीन और वसा की मात्रा भरपूर होती है।

मुलेठी कफ, पित्त दोषों को भी शांत करती है। (Benefits of Liquorice)

आंखों के लिए फायदेमंद

Benefits of Liquorice
HerZindagi

मुलेठी को उबाल कर उसके पानी से आंखों को धोने से बहुत आराम मिलता है। मुलेठी चूर्ण में सौंफ का चूर्ण मिलाकर एक चम्मच शाम को खाने से आंखों की जलन मिटती है और आंखों की रोशनी भी बढ़ती है।

कान और नाक के लिए फायदेमंद

Benefits of Liquorice
YouTube

कान और नाक के रोग में मुलेठी और मुनक्का से पकाए हुए दूध को कान में डालने से लाभ मिलता है। 3 ग्राम मुलेठी और शुंडी में 6 छोटी इलायची, 25 ग्राम मिश्री मिलाकर, काढ़ा बनाले और 2 बूंद नाक में डालने से नाक के रोगों में आराम मिलता है।

मुंह के छालों के लिए फायदेमंद

Benefits of Liquorice
HerZindagi

मुलेठी के टुकड़े में शहद लगाकर चूसते रहने से मुंह के छालों में आराम मिलता है। मुलेठी को चूसने से खांसी और गले का रोग भी दूर होता है। मुलेठी चूर्ण के 1 चम्मच को शहद के साथ दिन में 3 बार चटाना चाहिए। इसका 20-25 मिली काढ़ा शाम को पीने से श्वास नलिका साफ हो जाती है।

त्वचा के लिए फायदेमंद

Benefits of Liquorice
Healthunbox

पिंपल्स पर मुलेठी का लेप लगाने से वे जल्दी ठीक हो जाते हैं। मुलेठी और तिल को पीसकर उससे घी मिलाकर घाव पर लेप करने से घाव भर जाता है।

दिल के लिए भी लाभकारी

Benefits of Liquorice
Boldsky Hindi

मुलेठी का सेवन दिल के लिए भी लाभकारी है। 5 ग्राम मुलेठी चूर्ण तथा कुटकी चूर्ण को मिलाकर 20 ग्राम मिश्री मिला जल प्रतिदिन सेवन करने से हृदय रोगों में लाभ होता है और पेट के रोग में भी आराम मिलता है।

Facebook Comments