COVID-19 Guide: क्या एयर कंडीशनर के इस्तेमाल से कोरोना वायरस के फैलने का खतरा रहता है ? ये सवाल इन दिनों हर किसी की सोच का विषय बन चुका है। चूँकि इन दिनों लोग घरों में सबसे ज्यादा समय बीता रहे हैं, जाहिर है गर्मी बढ़ गई है और ऐसे में AC या कूलर के बिना रह पाना असंभव है। विशेष रूप से मेट्रो शहरों में जहाँ तापमान 45 डिग्री तक पहुंच जाता है वहां एयर कंडीशनर का इस्तेमाल आवश्यक हो जाता है। इस बारे एक स्टडी में कहा गया है कि, लोगों को कोरोना वायरस का खतरा बाहर से ज्यादा उनके घरों में है। यहाँ हम आपको खासतौर से इसी बारे में बताने जा रहे हैं, कि क्या वास्तव में कोरोना का खतरा एयर कंडीशनर और घर में रहने पर ज्यादा है।

बंद जगहों पर सबसे ज्यादा है कोरोना के फैलने का खतरा (Risk of Catching COVID-19 Inside or Outside Things to Know)

risk of Catching coronavirus inside and outside things to know
Outlook India

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, एक हालिया रिपोर्ट में पाया गया है कि, कोरोना वायरस बंद जगहों पर ज्यादा समय के लिए रहता है। इस रिपोर्ट के अनुसार कोरोना वायरस उन कमरों में ज्यादा दिनों के लिए रह सकता है जहां वेंटिलेशन की सुविधा ना हो और हवा का आवा गमन ठीक से ना होता हो। गौरतलब है कि, इस बारे में अमेरिका के वेंडरबिल्ट यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर विलियम शेफनर का कहना है कि, बिना वेंटिलेशन वाली जगहों पर रहने से कोई भी कुछ ही देर में इस वायरस के संपर्क में आ सकता है। इस संबंध में विशेषज्ञों की राय है कि, कोरोना वायरस बंद जगहों की तुलना में सूर्य की किरणों से कुछ ही सेकंड में मर जाती है। नेचुरल हवा और धूप में ज्यादा वक़्त रहने से कोरोना वायरस का खतरा कम हो जाता है। आपको जानकर हैरानी होगी, इस स्टडी में ये भी कहा गया है कि, सूर्य की रोशनी के संपर्क में आने से करीबन 90 प्रतिशत तक कोरोना वायरस खत्म हो सकते हैं।

इस बारे में विश्व स्वास्थ्य संगठन की क्या है राय

इस बारे में विश्व स्वास्थ्य संगठन की राय काफी मायने रखती है। बता दें कि, बढ़ते तापमान से कोरोना के खत्म होने की बात को विश्व स्वस्थ्य संगठन पहले ही नकार चुकी है। लेकिन इस स्टडी में धूप की किरणों से कोरोना को खत्म करने का दावा किया गया है। हालाँकि इस विषय पर अभी शोध चल रही है, इसका पुख्ता रिजल्ट अभी सामने नहीं आया है। जहाँ तक बाहर निकलने का सवाल है तो सरकारी गाइडलाइन्स के अनुसार इस समय आपके लिए घर पर रहना बेहद आवश्यक है। लेकिन स्वस्थ्य रहने के लिए आप चाहे तो जॉगिंग, वाकिंग और साइकिलिंग का सहारा ले सकते हैं। अब बात करें एयर कंडीशनर से कोरोना के फैलने की तो, इस बारे में अमेरिका के माउंट सिनानी हेल्थ सेंटर का कहना है कि, यदि घर में मौजूद किसी व्यक्ति को वायरस है तो उसके खांसने या छींकने से वायरस के ड्रॉप्लेट्स एयर कंडीशनर, पंखे और कूलर की हवा से अन्य लोगों को भी अपनी चपेट में ले सकते हैं। AC से कोरोना फैलने का केस चीन में पहले ही आ चुका है। इसलिए इन चीजों के इस्तेमाल में सावधानी बरतें और साफ़ सफाई का विशेष ध्यान रखें।

Facebook Comments