Whey Protein Kya Hai: अच्छा दिखना, अच्छी पर्सनालिटी होना, दमदार बॉडी बनाना आदि ये सब आजकल के युवाओं के शौक में शामिल होते जा रहे हैं। चूंकि शौक तो बढ़ रहे हैं मगर उसे पूरा करने का समय ही नहीं मिल पाता। ऐसे में लोग तरह-तरह के तरीके खोजते हैं। वह शॉर्टकट तरीका ढूंढते हैं जिसमें समय भी कम लगे और शौक भी पूरा हो जाए। खैर, आपको बता दें कि पिछले कुछ समय में न सिर्फ युवा बल्कि उम्रदराज लोग भी व्यायाम आदि को काफी तवज्जो देने लगे हैं। युवा लड़के और लड़कियां दोनों ही पढ़ाई और काम से समय निकालकर कुछ समय जिम आदि में देने लगे हैं, ताकि इस व्यस्त जीवन में वह खुद को स्वस्थ रख सकें। अमूमन जिम में आप जैसे ही प्रवेश करते हैं आपको दो, चार, दस अच्छी अच्छी बॉडी वाले बंदे दिख जाते हैं। मगर क्या आपने कभी इस बारे में सोचा है कि सॉलिड बॉडी बनाने के लिए क्या केवल जिम जाना ही आवश्यक है। या फिर इसके अलावा भी कुछ करना पड़ता है।

whey protein kya hai

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि जिम में जब आप जाते हैं तो ट्रेनर आपको एक्सरसाइज कराता है। आप कई तरह के वर्कआउट करते हैं जिससे कि आपके अंदर का स्टैमिना बढ़ता है। मगर इतने से ही आपकी बॉडी नहीं बनने वाली। बॉडी बनानी है तो निश्चित रूप से आपको अपना आहार बढ़ाना पड़ेगा। इसके अलावा अपने रोजाना के आहार में कुछ अलग से सप्लिमेंट लेने पड़ेंगे ताकि आपके वर्कआउट का असर आपके शरीर पर जल्दी दिखना शुरू हो जाए। यदि आप पहली बार बॉडी बनाने जा रहे हैं तो शुरुवाती तौर पर जिम या फिर अन्य लोगों की तरफ से आपके लिए व्हे प्रोटीन का सुझाव दिया जाता है। हालांकि, बहुत से लोग इसके अलावा और भी इसी तरह के प्रॉडक्ट इस्तेमाल करने की सलाह देते हैं।मगर ये व्हे प्रोटीन आखिर है क्या चीज और यह किस चीज से बनी है?  ये कुछ महत्वपूर्ण सवाल हैं जिनके बारे में ज़्यादातर लोग नहीं जानते या जानने में कोई दिलचस्पी नहीं रखते। जैसा कि इसके नाम से ही पता चल रहा, इसमें प्रोटीन की मात्रा होती है जितनी आपको प्रतिदिन में आवश्यकता होती है। आज भी अगर आप किसी बॉडी बिल्डर से पूछेंगे तो वह सबसे पहले व्हे प्रोटीन की ही सलाह देंगे। व्हे प्रोटीन एक बहुत ही फेमस प्रोटीन सप्लिमेंट है।

बता दें कि बॉडी बनाने में सहायक व्हे प्रोटीन एक प्रकार का हाई क्वालिटी प्रोटीन होता है, जो पूरी तरह से शाकाहारी होता है क्योंकि यह दूध से बना होता है। मसल्स के निर्माण के लिए बेहतरीन माना जाने वाला व्हे प्रोटीन ब्रांच्ड एमीनो एसिड्स के सर्वश्रेष्ठ सोर्स में से एक है जिसमें ल्युसिन भी होता है। चूंकि यह वस्तु दूध से निर्मित है तो आपको यह भी पता होना चाहिए कि इसके निर्माण की शुरुवात डेयरी फार्म से हुई। खास बात तो यह है कि व्हे प्रोटीन बनाने की प्रक्रिया में सबसे पहले गाय से निकाले गए दूध में एंजाइम मिलाये जाते हैं, ताकि दूध को हम दही और लिक्विड व्हे में प्राप्त कर सकें।

जिस तरह दूध से बनी दही से पनीर और कैसिइन प्रोटीन बनता है ठीक उसी तरह लिक्विड व्हे का Pasteurization करके इसे बैक्टीरिया फ्री बनाया जाता है। इतना कर लेने के बाद माइक्रो फिल्ट्रेशन आयन एक्सचेंज प्रोसेस से लैक्टोज और फैट को निकाल दिया जाता है। सबसे आखिर में इसे अच्छे से सुखा कर पाउडर में बदल दिया जाता है और तब जाकर तैयार होता है व्हे प्रोटीन।

अगर सामान्य भाषा में समझा जाए तो व्हे प्रोटीन दूध की मदद से बनाया जाने वाला एक बेहतरीन सप्लिमेंट है जो खाने से नहीं मिलने वाले पोषक तत्व की भरपाई करता है। इसके सेवन से मसल्स निर्माण में काफी सहायता मिलती है। आमतौर पर व्हे प्रोटीन का स्वाद अच्छा तो नहीं होता मगर कंपनी इसके कुछ अलग-अलग फ्लेवर लाती है, जिसके बाद इसका सेवन करना आसान हो जाता है और यह स्वादिष्ट भी लगते हैं। 25 से 50 ग्राम व्हे प्रोटीन नियमित लेना सेहत के लिए फायदेमंद होता है।

दोस्तों, उम्मीद करते हैं कि आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया होगा। पसंद आने पर लाइक और शेयर करना न भूलें।

Facebook Comments