Keratin Treatment in Hindi: महिलाओं को खूबसूरत केवल चेहरा ही नहीं बनाता है। खूबसूरत दिखने के लिए जरूरी है कि महिलाएं अपने चेहरे के साथ-साथ बालों का भी ख्याल रखें। लेकिन बालों की खूबसूरती ऐसे ही बरकरार नहीं रहती है बालों को खूबसूरत बनाने और खूबसूरती को बरकरार रखने के लिए जरूरी है कि बालों का समय-समय पर सही उपचार करते रहा जाए। इन्हीं उपचारों में से एक है केराटिन हेयर ट्रीटमेंट, कैराटिन असल में शरीर में पाया जाने वाला एक विशेष किस्म का प्रोटीन समूह होता है। कैराटीन की मदद से ही हमारी त्वाचा, बाल औऱ नाखूनों को निर्माण होता है।

क्या होता है कैराटीन हेयर ट्रीटमेंट? [Keratin Treatment Kya Hota Hai]

keratin treatment
optionssalonspa

हमारे बाल प्रकृतिक रूप से तभी बढ़ते हैं, जब बालों की जड़ों में कैराटिन प्रोटीन की सही मात्रा मौजूद होती है। आज आधुनिक जमाने में सैलूनों में कैराटिन को कत्रिम तरीके से पैदा किया जाता है और इसी का प्रयोग करते हुए बालों को लंबा, घुंघरैला और स्ट्रेट किया जाता है।
कैराटिन की मदद से ही बालों को तरह-तरह का शेप दिया जाता है। आज के दौर में महिलाओं में कैराटिन हेयर ट्रीटमेंट का चलन काफी बढ़ गया है। यह ट्रीटमेंट पूरी तरह से केमिकल बेस ट्रीटमेंट है। इसमें फॉर्मल्डिहाइड, कंडीशनर और केराटिन से बालों को सीधा, नर्म और मुलायम बनाया जाता है। फॉर्मल्डिहाइड के उपयोग से बाल लंबे समय तक नर्म और मुलायम बने रहते हैं। कैराटिन बालों को प्रक़तिक रूप से काफी मजबूत बनाता है। यही वह प्रोटीन होता है जो हमारे बालों को टूटने और झड़ने से रोकता है। लेकिन आपको बता दें कि यह स्थाई रूप से आपके बाल को स्ट्रेट नहीं कर सकता है।
लेकिन फिर भी अगर आप चाहें तो अपने बालों के ग्रोथ को मेंटेन करने के लिए हर तीन से चार महीने में इस ट्रीटमेंट को ले सकते हैं।

कैसे किया जाता है केराटिन ट्रीटमेंट [Keratin Treatment Kaise Hota Hai]

keratin treatment kya hota hai
allure

कैराटिन ट्रीटमेंट को शुरु करने के लिए सबसे पहले आपके बालों में कैराटिन युक्त प्रोडक्ट लगाते हैं और फिर इसे सुखाने के लिए आपके बालों पर फ्लैट आयरन चलाया जाता है। यह प्रोसेस बालों के उपर करीब 90 मिनट तक
किया जाता है। यह प्रोसेस बालों की लंबाई के उपर भी निर्धारित करत है। इस ट्रीटमेंट का असर बालों पर कम से कम दो महीने तक रहता है। बालों के उपर बारिश में भीगने और तेज हवाओं का भी कोई असर नहीं पड़ता है।
इस ट्रीटमेंट से बाल मजबूत और सीधे हो जाते हैं। ब्यूटी एक्सपर्ट इस ट्रीटमेंट के करीब तीन से चार दिन के बाद बालों को सोडियम सल्फेट फ्री शैम्पू से धोने की सलाह देते हैं। इस सैम्पू से प्रयुक्त कैमिकल सॉल्यूशन का असर
धीरे-धीरे होता है। साथ ही इसके इस्तेमाल से ट्रीटमेंट का असर और भी लंबे समय तक टिकता है।

इन सावधानियों का बरतना है जरूरी

वैसे तो केराटिन ट्रीटमेंट कराने के दौरान बाल नहीं टूटते हैं। लेकिन ट्रीटमेंट के दौरान हॉट आयरन से बाल सुखाने पर बालों को टूटने का खतरा रहता है। तो हॉट आयरन ट्रीटमेंट लेने के दौरान इस बात का ध्यान रखें।
जैसा कि हमने पहले भी बताया कि कैरोटिन ट्रीटमेंट के दौरान कई तरह के कैमिकल का प्रयोग किया जाता है। इसीलिए अगर आपको किसा भी तरह की एलर्जी है तो इस ट्रीटमेंट को लेने से पहले एक बार स्किन टेस्ट
जरूर करा लें। हो सके तो चर्म रोग विशेषज्ञ से एक बार सलाह भी जरूर ले लें।

बालों के लिए है कितना सही

केराटिन ट्रीटमेंट उन लोगों के लिए सही है जिनके बाल अधिक घुंघराले या हार्ड हैं। ज्यादातर मॉडल और हीरोइन अपने बालों को कई तरह के डिजाइन और लुक दिये
जाने की वजह से इस ट्रीटमेंट को अपनाती हैं। वैसे नॉर्मल या सीधे बालवाली महिलाएं भी मॉडलिंग या पार्टी के लिए इस हेयर ट्रीटमेंट को अपना सकती हैं। आम तौर पर इस ट्रीटमेंट को लेने में 15 हजार से लेकर 50 हजार तक का खर्चा आ सकता है।

Facebook Comments