Til ke Tel ke Fayde: बेशक दिखने में तिल बहुत ही छोटा सा बीज होता है, मगर ये हमारे स्वास्थ्य के लिए कितना ज्यादा महत्वपूर्ण होता है इसका शायद ही आपको अंदाजा होगा। असल में हम बात कर रहे हैं तिल के तेल की और स्वास्थ्य की दृष्टि से तिल का तेल बेहद फायदेमंद माना जाता है। तिल के तेल में विटामिन ई, बी कॉम्प्लेक्स, कैल्शि‍यम, मैग्नीशि‍यम, फॉस्फोरस और प्रोटीन पाया जाता है, जो हड्ड‍ियों की मजबूती से लेकर बालों को सुंदर बनाने और तनाव को दूर करने का काम करता है। तिल के तेल का इस्‍तेमाल आप शरीर के हर हिस्‍से पर कर सकते हैं। सिर्फ इतना ही नहीं बल्कि इसके इतने ज्यादा फायदे हैं कि हमारे देश में धार्मिक एवं मांगलिक कार्यों में तिल का तेल रखने पर जोर दिया जाता है। यहां तक कि हवन, पूजा-अर्चना और विवाह आदि की रस्मों में भी इसकी मौजूदगी को अनिवार्य और शुभ माना जाता है।

तिल के तेल के फायदे [Til Oil Benefits in Hindi]

तिल के तेल के फायदे इसमें मौजूद औषधीय गुणों के कारण और बढ़ जाते हैं। इस कारण इसे प्राचीन भारत के वेदों में मनुष्यों के लिए बिल्कुल सही बताया गया है। इस तेल में एक जीवाणुरोधी गुण होते है। यह एक प्राकृतिक एंटीवायरल, एंटी इंफ्लामेंट्री होता है। तो चलिए जानते हैं तिल के तेल के फायदों के बारे में।

रक्‍तचाप कम करने में मदद [Til Oil for Blood Pressure]

blood pressure
nhlbi

वैसे तो आपको बता दें कि प्राचीन समय से ही तिल के तेल का उपयोग खाद्य तेल के रूप में किया जा रहा है। हालांकि, एक अध्‍ययन से इस बात का पता चलता है कि खाद्य तेल के रूप में तिल का तेल रक्‍तचाप को कम करता है और लिपिड पेरोक्‍साइडेन कम करता है। यह उच्‍च रक्‍तचाप वाले रोगियों में एंटी-ऑक्‍सीडेंट गुणों को बढ़ाता है।

हड्डियों की मजबूती के लिए फायदेमंद

strong bones
beyondhealthnews

तिल के तेल में कई महत्वपूर्ण खनिज पाए जाते हैं जैसे तांबा, जस्ता और कैल्शियम। ये तीनों खनिज शरीर में हड्डियों के विकास में मदद करते हैं यानी कि भोजन में तिल के तेल का प्रयोग करने से आपकी हड्डियों का विकास होगा, साथ ही हड्डियों की पुनवृद्धि की गति में मदद होगी। बूढ़े लोगों में तिल का तेल ऑस्टियोपोरोसिस और उम्र से संबंधित हड्डियों की विभिन्न बीमारियों से बचाने में मदद कर सकता हैं। गठिया के दर्द, जोड़ों की सूजन और हड्डियों को मजबूत करने में भी तिल का तेल मदद करता है।

फटी एड़ियों को करे दूर

crack heel
sahiupchar

अगर आप फटी एड़ि‍यों की समस्या से जूझ रहे हैं, तो इसे ठीक करने के लिए तिल का तेल गर्म करके उसमें सेंधा नमक और वैक्‍स मिलाकर लगाएं। ऐसा करने से दरारें जल्‍द भरती हैं। अगर एड़ियां फट गई हैं तो तिल के तेल का ये नुस्‍खा लगाएं। इससे आपकी फटी हुई एड़ियां ठीक होने लगेगी।

शिशु के बेहतर विकास के लिए लाभकारी

new born care
hindiparenting

ना सिर्फ प्राचीन मान्यताओं से बल्कि कई अलग-अलग तरह के किये गए शोध से पता चलता है कि छोटे बच्‍चों के लिए तिल के तेल का उपयोग करने से उनके शारीरिक विकास को मदद मिलती है। 4 सप्‍ताह तक तिल के तेल से मालिश की जाए तो यह शिशु विकास में सुधार करता है।

त्वचा के लिए चमत्कारी

Skin
sazworld

बताना चाहेंगे कि तिल के तेल में जस्ता भी पाया जाता है, जो शरीर में आपकी त्वचा के लिए सबसे महत्वपूर्ण खनिजों में से एक है। यह त्वचा के लचीलेपन और चिकनाई को बढ़ा सकता है साथ ही त्वचा की स्थिति और समय से पूर्व बुढ़ापे की निशानियों को खत्म करने में मदद कर सकता है। तिल का तेल एक सनस्क्रीन के रूप में भी इस्तेमाल किया जा सकता है क्योंकि यह त्वचा पर एक सुरक्षात्मक परत बनाता है, जो विदेशी तत्वों या विषाक्त पदार्थों से शरीर की रक्षा करने का एक और तरीका है।

बेजान बालों में लाये चमक

hair oils
indiatoday

तिल का तेल बेजान बालों में चमक लाने का काम करता है। यदि आपके बाल भी बेजान और रूखे हो चुके हैं तो तिल के तेल का इस्तेमाल करें। यह स्कैल्प से लेकर बालों के छोर तक को पोषित करता है। बालों के रूखेपन को दूर करने के लिए तिल का तेल नहाने से दो घंटे पहले लगाएं। शैंपू करने के बाद देखेंगे कि आपको बालों की चमक पहले से बढ़ गयी है।

दोस्तों, उम्मीद करते हैं कि आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया होगा। पसंद आने पर लाइक और शेयर करना न भूलें।  

Facebook Comments