Viagra Eyesight Side Effects: आप लोग अक्सर कई दवाईयां बिना प्रिस्क्रिप्शन यानी बिना डॉक्टर की सलाह लिये खा लेते हैं। जैसे कि बुखार में पैरासिटामोल, दर्द होनेे पर पेन किलर, गर्भनिरोधक दवाएं या सेक्सुअल प्लेजर बढ़ाने वाली दवायें। इन दवाईयों का सेवन आप विज्ञापन से प्रभावित होकर कर लेते हैं तो कभी किसी प्रियजन के कहने पर। लेकिन क्या आपको अंदाज़ा भी है कि ऐसे कोई भी दवाई खाने से आपके शरीर पर क्या असर पड़ सकता है?

आज हम आपको एक ऐसी दवा के बारे में बताने जा रहे हैं जिसका सेवन आपकी आंखों की रोशनी तक छीन सकता है। (Viagra Eyesight Side Effects)

viagra eyesight side effects
fool

इस दवा के सेवन से आपको दृष्टि दोष होने की संभावनाएं बढ़ जाती हैं। इस दवा का नाम हैै वियाग्रा (Viagra)। जी हां, सेक्सुअल प्लेजर को बढ़ाने के लिए इस्तेमााल की जाने वाली इस दवा से विजुअल साइडइफेक्ट्स हो सकते हैं। एक रिसर्च के मुताबिक, इरेक्टाइल डिसफंक्शन को दुरुस्त करने के लिए वियाग्रा का इस्तेमाल करने वाले पुरुषों में दृष्टि दोष होने की संभावना 40 प्रतिशत तक बढ़ जाती है।

शोधकर्ताओं के अनुसार, वियाग्रा का इस्तेमाल करने वाले लोगों को शुरूआत में इसकी हल्की डोज़ लेनी चाहिए। और बाद में इसे ज़रूरत के हिसाब से बढ़ाना चाहिए। वियाग्रा की हाई डोज लेने से सीधा असर आंखों पर पड़ता है और आंखों की रोशनी जाने की संभावाना बढ़ जाती है।

फ्रंटियर इन न्यूरोलॉजी में प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक, वियाग्रा (Viagra) के करण आंखों में होनी वाली सम्स्या के बाद इंसान को रंगों में भेद करने में मुश्किल होती है। कुछ मामलों में तो पुरुष अंधेपन का शिकार भी हो सकते हैं।

वियाग्रा (Viagra) शरीर में रक्त वाहिकाओं को डाइलेट कर मांसपेशियों को बेहतर बनाने का काम करती है। डॉक्टर की मानें तो एक व्यक्ति को एक सप्ताह में केवल दो दिन ही इसका इस्तेमाल करना चाहिए।

तुर्की में अडाना अस्पताल के डॉक्टर कुनेयत कारास्लान ने बताया कि उन्होंने 17 पुरुष रोगियों में इस दवा के साइड इफेक्ट्स देखे हैं। इन सभी लोगों में नज़र दृष्टि दोष की शिकायत देखने को मिली है। इन रोगियों को न सिर्फ धुंधला दिखाई पड़ रहा है बल्कि इन्हें रंगों की पहचान करने में तकलीफ हो रही है। डॉक्टर कुनेयत ने बताया की इन सभी मरीज़ों ने वियाग्रा की 100 एमजी से ज्यादा डोज का सेवन कर रहे थे।

डॉक्टर कुनेयत ने आगे बतााया कि 100 एमजी की डोज लेने से आपकी आंखों पर बुरा असर पड़ता है। साथ ही आपको कई घंटों तक सिरदर्द रहता है।

वियाग्रा दवा पहली बार सन् 1998 में बाजार में उपलब्ध हुई थी। बाजार में आते ही इस दवा की मांग पुरुषों में काफी तेजी से बढ़ने लगी। ये इतिहास की सबसे तेजी से बिकने वाली दवाओं में से एक है। हालांकि इस दवा का इस्तेमाल शुरुआत में हाई ब्लड प्रेशर के रोगियों के लिए किया गया था। लेकिन बाद में इसका इस्तेमाल सैक्सुअल प्लेजर को बढ़ाने के लिए किया जाने लगा।

Facebook Comments