Kerala Couple: कोरोना का प्रकोप दुनियाभर में बढ़ता ही जा रहा है। अब तो भारत भी इससे अछूता नहीं रह गया है। यहां भी मामले अब तेजी से बढ़ने लगे हैं। इस बात का डर भारत को सताने लगा है कि कहीं भारत अब दूसरे चरण से तीसरे चरण में न पहुंच जाए। केरल में भी कोरोना के बड़ी संख्या में मामले प्रकाश में आए हैं। हालांकि, कोरोना से जंग देशभर में जारी है। हर स्तर पर इसके लिए प्रयास किए जा रहे हैं। सरकार कोरोना के खिलाफ मुहिम में जुटी हुई है। साथ में आम नागरिकों की ओर से भी इसमें योगदान दिया जा रहा है। अस्पताल, डॉक्टर, सफाईकर्मी और प्रशासन के लोग इसमें विशेष भूमिका निभा रहे हैं।

संक्रमण मुक्त हुआ परिवार (Kerala Couple)

केरल में भी एक परिवार जो कोरोना से संक्रमित हो गया था, अब ऐसी खबरें आ रही हैं कि परिवार के सभी सदस्य कोरोना वायरस के संक्रमण से मुक्त हो चुके हैं। जी हां, खबरों के मुताबिक इस परिवार के कई सदस्य इटली की यात्रा पर गए थे। वहां से लौटने के बाद ये कोरोना वायरस के संक्रमण की चपेट में पाए गए थे। परिवार के सदस्यों का इलाज अलग-अलग चल रहा था। इलाज के बाद अब इस परिवार के सभी सदस्यों को कोरोना वायरस के संक्रमण से मुक्त घोषित कर दिया गया है। ऐसे में इस परिवार के लिए यह किसी बड़ी उपलब्धि से कम नहीं है। साथ ही पूरे परिवार के लिए यह राहत वाली बात है कि सभी लोग कोरोना वायरस के संक्रमण से अब आजाद हो गए हैं और इनमें से किसी पर इसका कोई खतरा नहीं है।

Kerala Couple बुजुर्गों पर से भी टल गया खतरा

इस परिवार के जो सभी सदस्य कोरोना वायरस के संक्रमण से मुक्त हुए हैं, इनमें सबसे खास बात यह है कि परिवार में 93 साल के एक बुजुर्ग और उनकी 88 साल की पत्नी भी कोरोना वायरस के संक्रमण से मुक्त हो गई हैं। अब जब ऐसा माना जा रहा है कि कोरोना वायरस 60 से अधिक उम्र के लोगों के लिए अधिक खतरा पैदा कर रहा है तो ऐसे में इतने बुजुर्ग दंपती का कोरोना वायरस से आजाद होना एक सुखद खबर के तौर पर देखा जा रहा है। केरल की स्वास्थ्य मंत्री केके शैलजा की ओर से इसकी जानकारी मीडिया में शेयर की गई है। इन दोनों को यह संक्रमण अपने बच्चों और पोतों से हुआ था, जो हाल ही में इटली की यात्रा पर गए हुए थे और वहां से अपने साथ संक्रमण लेकर लौटे थे।

यह भी पढ़े कोरोना वायरस: लॉकडाउन के चौथे दिन जन्मा बेटा तो नाम रख दिया ‘लॉकडाउन’

इन बीमारियों से थे पीड़ित

स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से एक विज्ञप्ति जारी की गई है, जिसमें बताया गया है कि यह बिल्कुल सच है कि बुजुर्ग दंपति कोरोना वायरस से उबर चुके हैं। इसमें बताया गया है कि ये दोनों बुजुर्ग दंपति हाइपरटेंशन, डायबिटीज और अन्य बीमारियों से भी पीड़ित थे। ये दोनों कोट्टायम मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती हैं। ये अब पूरी तरह से संक्रमण से मुक्त हो चुके हैं। अधिकारियों के हवाले से बताया गया है कि इन दोनों को दो अलग-अलग वीआईपी आईसीयू कमरे में भर्ती किया गया था। इसकी वजह से दोनों बहुत ही असहज महसूस कर रहे थे और बेचैन भी हो गए थे। बाद में इन दोनों को आईसीयू में भर्ती कर दिया गया, जहां एक दूसरे को दोनों देख पा रहे थे। बताया जा रहा है कि ये बुजुर्ग दंपति घर जाने की जिद कर रहे थे। भोजन तक नहीं करना चाह रहे थे, लेकिन नर्सों ने उनकी अच्छी तरह से देखभाल की।

बढ़ती जा रही मरीजों की तादाद

गौरतलब है कि भारत में कुल कोरोना मरीजों की तादाद अब लगभग 1500 के करीब पहुंच गई है। इसकी वजह से देश में 32 से भी अधिक लोग अब तक अपनी जान गंवा चुके हैं। हालांकि इनमें से 140 लोग अब पूरी तरह से ठीक भी हो चुके हैं।

Facebook Comments