पूरी दुनिया के साथ जब भारत भी कोरोना वायरस के खिलाफ जंग लड़ रहा है तो ऐसे में देश के सभी नागरिकों की ओर से भी इसमें अपनी भागीदारी निभाई जा रही है। सेलिब्रिटीज से लेकर आमजन तक अलग-अलग फंड में अपनी ओर से आर्थिक योगदान दे रहे हैं। इसी क्रम में 10 साल की एक शतरंज खिलाड़ी की ओर से भी कोरोना के खिलाफ जंग में योगदान देते हुए 10 हजार रुपये का योगदान दिया गया है। जी हां, इस शतरंज खिलाड़ी का नाम अर्शिया दास है। अर्शिया दास (Arshiya Das) महज 10 साल की हैं, लेकिन शतरंज के क्षेत्र में उन्होंने अच्छा-खासा नाम कमा लिया है। वे शतरंज की एक शानदार खिलाड़ी हैं।

समझी अपनी जिम्मेवारी (Arshiya Das)

जिस तरह से बाकी लोग कोरोना वायरस के संक्रमण से लड़ने के लिए अपनी क्षमता के अनुसार आर्थिक योगदान दे रहे हैं, उसे देखकर अर्शिया दास ने भी इतनी कम उम्र में ही अपनी जिम्मेवारी समझी है। उन्होंने त्रिपुरा के मुख्यमंत्री राहत कोष में कोरोना से लड़ने के लिए 10 हजार रुपये का योगदान दिया है। अर्शिया दास त्रिपुरा की रहने वाली हैं। अर्शिया की ओर से एक वीडियो अपलोड किया गया है, जिसके जरिए उन्होंने यह जानकारी दी है। अर्शिया दास के योगदान को स्वीकार करने के बाद त्रिपुरा के मुख्यमंत्री विप्लब कुमार देब की ओर से अर्शिया दास का इसके लिए धन्यवाद भी किया गया है। त्रिपुरा में अब तक कोरोना का एक भी मामला सामने नहीं आया है। अर्शिया दास ने एक वीडियो अपलोड करके लोगों से इस मामले में जागरूक बनाने की भी अपील की है और उनसे संक्रमण से बचने के लिए हरसंभव उपाय करने के लिए कहा है।

बीते साल ही जीता गोल्ड (Arshiya Das)

वर्ष 2019 में उज्बेकिस्तान में एशियन स्कूल चेस चैंपियनशिप का आयोजन हुआ था। इसमें अर्शिया दास ने गोल्ड मेडल जीता था और इस तरह से देश का नाम उन्होंने रोशन कर दिया था। अर्शिया के पिता का नाम पूर्णेन्दु दास है। वे बीएसएनएल में काम करते हैं। वहीं, अर्शिया की मां का नाम अर्निशा नाथ दास है। वे एक गृहिणी हैं। अर्शिया ग्रैंडमास्टर विश्वनाथन आनंद को अपना आदर्श मानती हैं। अर्शिया का सपना है कि एक दिन शतरंज के खेल में अपनी प्रतिभा को और निखारते हुए वे भी उन्हीं की तरह नाम कमाएं और देश का खूब नाम रोशन करें।

यह भी पढ़े

कोरोना से बचाव: गांव की महिलाएं बना रहीं 10 रुपये के मास्क

मुख्यमंत्री ने दिया धन्यवाद

अर्शिया दास की ओर से किए गए इस योगदान पर त्रिपुरा के मुख्यमंत्री विप्लब कुमार देब बहुत ही खुश नजर आए। उन्होंने अर्शिया दास का धन्यवाद भी दिया। जी हां, मुख्यमंत्री ने इसे लेकर एक ट्वीट किया। इस ट्वीट में उन्होंने लिखा कि त्रिपुरा की चेसमास्टर अर्शिया दास ने कोरोना के खिलाफ जंग में अपनी ओर से 10 हजार रुपये का योगदान दिया है। साथ ही मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब ने यह भी लिखा कि मुख्यमंत्री राहत कोष में उनकी ओर से यह राशि दान की गई है। इसके लिए वे अर्शिया दास का धन्यवाद करते हैं। त्रिपुरा के मुख्यमंत्री की ओर से किए गए इस ट्वीट के बाद अर्शिया दास के पिता पूर्णेन्दु दास ने भी इसके लिए मुख्यमंत्री का धन्यवाद किया।

वीडियो में की अपील

अर्शिया दास का एक वीडियो उनके पिता पूर्णेन्दु दास के ही ट्विटर हैंडल से पोस्ट किया गया है। इस वीडियो में अर्शिया दास को लोगों को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने की सलाह दी जा रही है। वीडियो में उन्हें लोगों से अपने-अपने घरों में रहने की अपील करते हुए देखा जा रहा है। बांग्ला में हुए इस वीडियो में कह रही हैं कि आप सभी लोग अपने-अपने घरों में ही रहें। साथ ही बार-बार अपने हाथों को भी धोते रहें। अर्शिया लोगों से कह रही हैं कि रास्ते में वे ठोकने से बचें। साथ ही वे मास्क पहनें और हैंड सैनिटाइजर का इस्तेमाल भी करते रहें।

Facebook Comments