Pitra Dosh Nivaran Stotra: जैसा कि हम सभी जानते हैं हमारे बड़े-बुजुर्गों को हमारा पितृ माना गया है और रीति रिवाज के अनुसार हर साल पितृ दोष से बचने के लिए लोग पितरों को भोजन दान करने के लिए विशेष तरह के पूजन का आयोजन करते हैं। इस पूजा को सम्पूर्ण देश में “पितृ पक्ष” के नाम से जाना जाता है और जैसा कि बताया जाता है बिहार के गया में पितृ दोष से छुटकारा पाने के लिए एक विष्णु मंदिर मौजूद है, जहां हर साल लाखों भक्त अपने पूर्वजों को खाना खिलाने और स्नान करने पहुंचते हैं। मान्यता है कि ऐसा करने से हमारे जीवन में हमारे पूर्वजों का गहरा प्रभाव पड़ता है। यह भी मान्यता है कि जिस घर में पितृ नाराज रहते हैं, वह घर हमेशा संकटों और दुखों के बादलों से घिरा रहता है। ऐसे में परिवार पर हमेशा किसी ना किसी तरह की विपत्ति, संकट आदि का खतरा मंडराता रहता है। घर में पैसे की कमी बने रहना, शादी में देरी होना, संतान सुख से वंचित रहना, नौकरी एवं व्यापार में हानि जैसी अनचाही मुसीबतें हमें घेरने लगती हैं।

pitra dosh nivaran stotra
hindi indiatvnews

यदि आप भी इस तरह की तमाम समस्याओं से जूझ रहे हैं तो ये जानकारी आप बहुत ध्यान से पढ़ें क्योंकि यह ख़ास लेख केवल आपके लिए ही है। बताना चाहेंगे कि जिस भी व्यक्ति के घर में पितृ दोष का आभाव होता है, वहां इन सभी संकटों का होना तय है। आज हम आपको पितृ दोष से बचने के कुछ ऐसे सरल एवं आसान उपायों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्हें अपनाकर आप पितृ दोष के प्रकोप से खुद को और अपने परिवार को बचा सकते हैं। साथ ही अपने पितरों की आत्मा को शांति दिलवा सकते हैं। तो आइये उन उपायों के बारे में विस्तार से जानते हैं।

पितृ दोष से मुक्ति पाने का आसान उपाय

सबसे पहले तो आप यह जान लीजिये कि यदि आप पितृ दोष से खुद को मुक्ति दिलवाना चाहते हैं तो आपको एक सरल उपाय करना होगा। ऐसा माना जाता है कि जिस भी व्यक्ति के घर में पितृ दोष का प्रकोप होता है, वहां हर समय नकारात्मकता और तमाम तरह की बाधाएं रहती हैं, जिसकी वजह से आप लगातार असफलता, नाकामी तथा बदनसीबी का मुंह देखते हैं। इतना ही नहीं आपके साथ-साथ आपके परिवार के सदस्य भी उसका भागी बनते हैं। इस तरह से जातक को अपने जीवन में अनेक प्रकार के कष्ट भोगने पड़ते हैं। ख़ासकर पितृ दोष के समय संतान और धन संबंधी विशेष हानि देखने को मिलती है। तो यदि आप पितृ दोष से बचना चाहते हैं तो अपने पूर्वजों का पितृ दोष में तर्पण अवश्य करें। इसके लिए आप पितृ दोष में उनके नाम का श्राद्ध करवाएं साथ ही पितृ दोष निवारण की पूजा घर में रखें। इससे पितृ दोष से आपको जल्द ही छुटकारा मिल सकता है।

जान लीजिये पितृ दोष पूजा के लाभ

आपकी जानकारी के लिए बताते चलें कि हमारे हिंदू धर्म ग्रंथों के अनुसार यदि आप पितृ दोष से मुक्ति पाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको अपने पूर्वजों के नाम के श्राद्ध के साथ-साथ घर में पितृ दोष पूजा भी करवानी होती है और ऐसा करने से आपको अनेक प्रकार के लाभ देखने को मिलते हैं। ऐसा बताया जाता है कि पितृ दोष निवारण पूजा पितरों के बुरे प्रभाव से बचने के लिए रखी जाती है। इससे जीवन में चल रही हर तरह की बाधाओं से मुक्ति मिल जाती है। यह भी माना जाता है कि जो लोग संतानहीन हैं, उन पर पितृ दोष का प्रभाव अधिक हावी होता है। ऐसे में यह पूजा करने से आपको जल्द ही संतान सुख की प्राप्ति हो सकती है। सिर्फ इतना ही नहीं, पूजा के कुछ ही समय बाद आपको अपने घर की आर्थिक तंगी समाप्त होती दिखेगी और आप खुद इस बात को महसूस करेंगे कि ऐसा करने के बाद से आपके घर में बड़ा सुधार हुआ है। सभी चीजें धीरे-धीरे धीरे बदलने लगेंगी और आपका अच्छा समय शुरू हो जाएगा।

दोस्तों, उम्मीद करते हैं कि आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया होगा। पसंद आने पर लाइक और शेयर करना न भूलें।   

Facebook Comments