Shiv Ji ki Aarti in Hindi

सावन मास में शिव जी पर जल अर्पण करके उनकी पूजा अर्चना अत्यंत फलदायी होती है। ऐसी मान्यता है की सावन के महीने में भगवान शिव स्वयं धरती पर वास करते है। चूँकि सामूहिक तौर पे की गयी पूजा बहुत लाभकारी होती है और सावन के महीने में लगभग सभी लोग भगवान शिव की पूजा करते है तो आप भी अगर इस सावन माह में अपने मनवांछित फल की प्राप्ति चाहते है तो यह आपके लिए किसी सुनहरे अवसर से काम नहीं है। शिव जी की पूजा संपन्न होने के बाद उनकी आरती की जाती है तभी पूजा करने का सम्पूर्ण फल प्राप्त होता है ।

शिव आरती (Shiv Ji Ki Aarti)

शिव आरती

Shiv ji ki Aarti

Facebook Comments