Coronavirus Update: विश्व भर में अनेकों देश कोरोना की मार झेल रहे हैं। कोरोना इस कदर देशों में फैला है कि, सभी अपने घरों में बंद रहने पर मजबूर हो गए हैं। कोरोना के कारण हजारों लोग अपनी जान गवा चुके हैं। ऐसे में सभी स्पोर्ट्स इवेंट भी रद्द हो चुके हैं, और खिलाड़ी अपने घरों में ही बंद होकर रह गए हैं। वही कुछ खिलाड़ी ऐसे हैं, जो घरों में ना रह कर बाहर निकल कर लोगों की मदद कर रहे हैं।

आज हम आपको दुनिया के ऐसे ही पांच खिलाड़ियों के बारे में बताएंगे। जो अपनी जी जान से सेवा भाव लेकर कोरोना के मरीजों की मदद में लगे हुए हैं। कोई खिलाड़ी नर्स बन कर तो कोई फार्मासिस्ट बन कर महामारी से लड़ने में अपना योगदान कर रहा है।

हीदर नाइट (क्रिकेटर) (Heather Knight)

Heather Knight

हीदर इंग्लैंड की महिला क्रिकेट टीम की कैप्टन है। गौरतलब है कि, वह बीते 1 महीने से ब्रिटेन की नेशनल हेल्थ सर्विस के साथ स्वयं सेवक बनकर डॉक्टरों की मददगार बनी हुई है। हीदर दवाइयों को अस्पताल पहुंचाने के काम में लगी है।

टोनी डोवाले(फुटबॉलर) (Toni Dovale)

Toni Dovale
telegraphindia

टोनी इंडियन सुपर लीग में बेंगलुरू एफसी के लिए फुटबॉल खेल चुके हैं। अब यह कोरोना मरीज़ो की सेवा में एक फार्मासिस्ट बनकर लगे हुए हैं। डोवाले ने फार्मासिस्ट की डिग्री प्राप्त की हुई है। टोनी ने घर में रहने के बजाय कोरोना से लड़ रहे मरीजों के साथ देश की सेवा में लगे रहने का निर्णय लिया हैं।

जोयसे सोमब्रोएक (हॉकी) (Joyce Sombroek)

Joyce Sombroek
orissapost

जोयसे जोकि एक पूर्व गोलकीपर है, नीदरलैंड की महिला हॉकी टीम की। जोयसे को लंदन ओलंपिक 2012 में उनकी जीत पर उन्हें स्वर्ण पदक से नवाजा गया था। अब यह बतौर डॉक्टर देश में कोरोना के खिलाफ लड़ रही है। इन्होंने 26 साल की उम्र में ही खेल से संन्यास ले लिया था। इसके बाद एम्सटरडम में व्रिजे यूनिवर्सिटी से उन्होंने मेडिकल डिग्री प्राप्त की।

एलेक्‍स चार्लटन (फ़ुटबॉलर) (Alex Charlton)

हेलिक्स एक अमेरिकन फुटबॉलर है। एलेक्‍स इन दिनों न्यूयॉर्क में नर्सिंग कर रहे हैं। एलेक्स द्वारा 2018 में नर्सिंग की डिग्री पूरी की गई थी। कोरोना वायरस से जंग लड़ रहे लोगों के साथ देश की सेवा कर रहे है।

रशेल लिंच (हॉकी) (Rachael Lynch)

Rachael Lynch
sportstar

रशेल लिंच एक गोलकीपर है, ऑस्ट्रेलियाई महिला हॉकी टीम की। वह पेशे से नर्स भी है। गौरतलब है कि, टोक्यो ओलंपिक जब स्थगित हो गया था, तब उन्होंने कोरोना से लड़ने के लिए क्लीनिक में नर्स के तौर पर अपना रजिस्ट्रेशन कराया था।

Facebook Comments