MS Dhoni Record In Hindi: महेंद्र सिंह धोनी भारतीय क्रिकेट का वो चेहरा हैं जिन्होंने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट- एक दिवसीय विश्व कप, टी-20 विश्व कप और चैंपियंस ट्रॉफी जीता है। देखा जाए तो माही न सिर्फ क्रिकेट के मैदान पर सबसे सफल विकेट कीपर बल्लेबाज साबित हुए हैं बल्कि अब तक के सबसे सफल कप्तानों में भी इनकी गिनती की जाती है। डेढ़ दशक से क्रिकेट से जुड़े रहने के दौरान धोनी ने एक से बढ़कर एक नए-नए कीर्तिमान स्थापित किए और बहुत से महान बल्लेबाजों और विकेट कीपरों के रिकॉर्ड को ध्वस्त भी किया। झारखंड के रांची के एक सामान्य से घर से निकलकर आज माही अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बना चुके हैं। अपनी सादगी और शांत व्यवहार से हर किसी को अपना दीवाना बना लेने वाले धोनी की राह इतनी भी आसान नहीं रही जितनी ऊंचाई पर वह आज हैं। मैदान चाहे खेल का हो या पढ़ाई का, मेहनत और परीक्षा सभी को देनी होती है और जो अपनी-अपनी परीक्षा में अच्छे अंक से पास होता है वही आगे बढ़ते जाता है। धोनी की लोकप्रियता अच्छे-अच्छे धुरंधर खिलाड़ियों से भी ज्यादा है और तो और उनके ऊपर बॉलीवुड में बायोपिक भी बन चुकी है। खैर, आज हम आपको बताते हैं भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के रिकॉर्ड के बारे में, जिसे जानने के लिए हमेशा उनके फैंस उत्सुक रहते हैं।dhoni

रिकॉर्ड ऑन द ग्राउंड

वन डे रिकॉर्ड्स [MS Dhoni Highest One Day Score]

बांग्लादेश के खिलाफ अपने एकदिवसीय पारी की शुरुवात करने वाले धोनी ने अब तक कुल 350 एक दिवसीय मैच खेले हैं। यह कीर्तिमान अभी तक केवल 6 भारतीय खिलाड़ियों ने स्थापित किया है, जिसमें एक धोनी भी शामिल हैं। इस दौरान उन्होने 50.6 के औसत से कुल 10773 रन बनाए हैं। आपको यह पता होना चाहिए कि वनडे में 10,000 रन बनाने का रिकॉर्ड भारत से मात्र 5 और विश्व के सिर्फ 13 बल्लेबाजों के नाम दर्ज है। यह भी बता दें कि माही का वनडे में सर्वोच्च स्कोर नाबाद 183 रन (श्रीलंका के खिलाफ) है जो कि किसी भी विकेटकीपर बल्लेबाज के रूप में विश्व रिकॉर्ड है। वनडे में माही ने कुल 10 शतक और 73 अर्धशतक लगाए हैं।

टेस्ट रिकॉर्ड्स [Test Records]

बात करें टेस्ट रिकॉर्ड्स की तो आपको बता दें कि माही ने श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट मैच में पदार्पण किया और अभी तक कुल 90 टेस्ट मैच खेल चुके हैं, जिसमे 144 पारियों में 38 के औसत से कुल 4876 रन बना चुके हैं। इस दौरान धोनी ने 6 शतक और 33 अर्धशतक भी जड़े हैं। फिलहाल धोनी क्रिकेट के इस फॉर्मेट को अलविदा कह चुके हैं। आपको यह भी पता होना चाहिए कि माही की कप्तानी में भारत ने अब तक का सबसे बड़ा टेस्ट स्कोर किया है, जो कि 2009 में श्रीलंका के खिलाफ है। पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत ने पहली पारी में 9 विकेट खोकर रिकॉर्ड 726 रन बनाए थे और फिर पारी घोषित कर दी। इसी सीरीज में भारत 2-0 से जीता और आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में नंबर 1 हो गया था। सिर्फ इतना ही नहीं, बल्कि माही के नाम टेस्ट टीम का कप्तान बनने के बाद अपराजय होने का भी कीर्तिमान रहा है। धोनी ने अपनी टेस्ट कप्तानी में टीम को लगातार 11 मैच तक अपराजय रखा है। सबसे सफल कप्तान की लिस्ट में भी धोनी अव्वल हैं. उनके नेतृत्व में टीम ने 24 टेस्ट जीते जबकि उनसे पहले यह रिकॉर्ड गांगुली के नाम था, जिनकी कप्तानी में भारतीय टीम ने 49 टेस्ट में 21 जीते थे।

टी-20 रिकॉर्ड्स[T-20 Records]

वनडे और टेस्ट के अलावा क्रिकेट के सबसे छोटे फॉर्मेट में भी धोनी के रिकॉर्ड्स कम नहीं हैं। धोनी ने टी-20 में कुल 98 मैच खेलते हुए 37 के औसत से 1617 रन बनाए हैं, जिसमे 2 अर्धशतक भी शामिल है।

विकेट कीपिंग में माही के नाम दर्ज हैं कई रिकॉर्ड 

महेंद्र सिंह धोनी ने टेस्ट क्रिकेट में विकेट के पीछे सबसे ज्यादा 294 शिकार किया है। जिसमें 256 कैच और 38 स्टंपिंग शामिल है। इसके अलावा एकदिवसीय मैचों में भी विकेट के पीछे माही सबसे आगे हैं, जिसमें उन्होंने कुल 444 शिकार किए हैं। इसमें धोनी ने 321 कैच और 123 स्टंपिंग किए हैं। टी-20 में भी माही का जवाब नहीं, जिसमें उन्होंने 57 कैच और 34 स्टंपिंग करते हुए कुल 91 शिकार किए हैं।
धोनी के रिकॉर्ड्स की लिस्ट यहीं पर खत्म नहीं हो जाती है. आप सभी इस बात को तो जानते ही होंगे की माही को बेस्ट फिनिशर के नाम से जाना जाता है. ऐसा इसलिए क्योंकि माही के नाम पर सबसे ज्यादा 9 बार छक्के मारकर मैच जीतने का रिकॉर्ड भी दर्ज है। एकदिवसीय में माही के नाम सबसे ज्यादा 84 बार नाट आउट रहने का भी रिकॉर्ड दर्ज है।

Facebook Comments