आज के दौर में मोबाइल केवल जरूरी ही नहीं बल्कि हमारी ज़रूरत भी बन गया है। मोबाइल केवल एक गैजेट भर नहीं रहा है बल्कि ये हमारा बैंक है, हमारा वॉलेट है और चलता फिरता हर ज़रूरत का सामान भी। जी हां…स्मार्ट युग में स्मार्ट फोन हमारी हर ज़रूरत में शामिल रहता है। ऐसे में अगर फोन टूट जाए, खो जाए या फिर चोरी हो जाए तो समझो हो गया काम। कितना ही चौकन्ना क्यों ना हो जाएं लेकिन शातिर चोर जेब पर सेंध लगा ही देते हैं। लिहाज़ा बड़ा सवाल ये है कि चोरों से फोन को कैसे बचाएं। इसके लिए नई तकनीक आ रही है जिससे यकीन मानिए चोरों की खैर नहीं होगी। क्या है वो तकनीक जो दिलाएगी मोबाइल चोरों से निजात। आइए आपको बताते हैं।

क्या है ये नई तकनीक? (Anti Theft Technology developed)

इस नई तकनीक के मुताबिक जैसे ही कोई आपके फोन को चुराने की कोशिश करेगा या फिर जेब से निकालने की कोशिश करेगा तो वैसे ही मोबाइल फोन में तेज़ वाइब्रेशन होगा जो आपको चौकन्ना कर देगा कि आपको मोबाइल चोरों में चंगुल में है और आप अपना फोन चोरी होने से बचा लेंगे। ये फीचर एक स्वीडिश फोन कंपनी ने विकसित किया है जिसका नाम है एडेप्टिव फ्रिक्शन। ये पूरा काम सेंसर की बदौलत होगा। जब चोर आपकी जेब से फोन को निकालने की कोशिश करेगा तो सेंसर की वजह से फोन हाथ से छूट जाएगा।

लगातार बढ़ रही है मोबाइल चोरी की घटनाएं

दिनों दिन मोबाइल चोरी की घटनाएं बढ़ती जा रही है। कभी बसों में तो कभी मेट्रो में.. रोज़ाना मोबाइल चोरी होने की वारदात दर्ज होती है। एक आंकड़े के मुताबिक अकेले साल 2016 में ही दिल्ली में हर रोज़ लगभग 120 मोबाइल चोरी होने की घटनाएं सामने आई थीं। ये आंकड़ा केवल देश की राजधानी भर का था ऐसे में पूरे देश में कितने मोबाइल चोरी हुए होंगे इसका केवल अंदाज़ा ही लगाया जा सकता है।

 

Facebook Comments