Covid-19 Exposer Notification: वो कहते हैं न कि आवश्यकता आविष्कार की जननी है। इसी प्रकार इस वक्त सभी कोरोना वायरस को हराने के लिए नए नए तरीके ढूंढ रहे हैं, क्योंकि कोरोना मानव जाति के लिए एक बड़ा दुश्मन साबित हो चुका है। इसी बीच अमेरिका की सुप्रसिद्ध टेक्नॉलाजी कंपनियां एप्पल और गूगल ने मिलकर ये घोषणा किया कि दोनों कंपनियां मिलकर कोविड19 वायरस को ट्रेस करने वाले एक ऐप पर काम कर रहे हैं। अब ऐसी खबर है कि ये ऐपलिकेशन आईफोन और एंड्रायड में आने वाला है।

इस काम को एप्पल ने शुरू भी कर दिया है। एप्पल ने अपने मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम iOS 13.5 के बीटा वर्जन में Covid-19 ट्र्रैकर नोटिफिकेशन API पेश कर दिया है। इसके साथ ही एप्पल ने एक्सपोजर भी दिया है।

Google-Apple एक साथ – Covid-19 Exposer Notification

Google and Apple will soon launch covid-19-exposer-notification feature
Aaj Tak

नए कोविड19 ट्रैसिंग ऐप के लिए iOS 13.5 के साथ आईफोन में एक नई सुविधा भी जोड़ी जा रही है, लेकिन अभी ये सिर्फ और सिर्फ हेल्थकेयर ऑथिरिटी और डेवलपर्स को ही मुहैय्या कराया जाएगा। इसके बाद इसके फीडबैक के आधार पर इसमें और सुधार किया जाएगा। नए बीटा वर्जन में कोविड19 एक्सपोजर नोटिफिकेशन को अपने हिसाब से ऑन या ऑफ करने का विकल्प भी दिया जा रहा है। इसका मतलब है कि ये पूरी तरह से ऑप्शनल है।

इसके आने के बाद ऐप डेवलेपर्स ऐसे ऐप बना सकेंगे, जिससे उन्हें फायदा भी होगा।आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ऐप्पल और गूगल ने इस नए ट्रैसिंग एप पर बहुत ही तीव्र गति से कार्य किया है, लेकिन इस ऐप की पहुँच आम जनता तक कब होगी? ये सवाल अभी भी बना हुआ है। कोविड19 एक्सपोजर नोटिफिकेशन कैसे चलता है? इस पर बात किया जाए तो, ये iPhone के ब्लूटूथ का इस्तेमाल करता है और ब्लूटूथ ऑन होने के बाद ये आस पास मौजूद अन्य डिवाइसेस को रैंडम आईडी सेंड करेगा। इसके बाद अगर आप किसी कोविड19 पॉजिटीव पेशेंट के संपर्क में आएंगे तो आधिकारिक ऐप्लिकेशन आपको इस बारे में सूचित करेंगे।

यह भी पढ़े

कल जारी होगा सैंपल कोड

ऐप्पल और गूगल डेवलेपर्स के लिए कोरोना वायरस ट्रैसिंग ऐप्लिकेशन से संबंधित सभी सैंपल कोड शुक्रवार को पेश होंगे। टेक कंपनी गूगल ने भी अपने प्ले सेवा में बीटा वर्जन अपडेट हाल ही में पेश किया है। इसके अंतर्गत एंड्रॉयड स्टूडियो डेवेलपर्स एक्सपोजर नोटिफिकेशन फीचर की टेस्टिंग हो पाएगी। खास बात ये भी है कि इस सुविधा के लिए आपको अपने एंड्रॉयड स्मार्टफोन को पूरी तरह से अपडेट करना कोई जरूरी नहीं होगा। ये बात जरूर है कि इस नए फीचर को Android 6.0 या इससे ऊपर के वर्जन में ही जोड़ा जाएगा।

Facebook Comments