कोरोना वायरस के चलते पूरा देश लॉकडाउन है। देश की रफ्तार मानो थम सी गई है, जो बेहद जरूरी भी है। ऐसे में लॉकडाउन हुए लोग घर पर टाइमपास करने के विकल्प तलाश रहे हैं। कोई टिक-टॉक पर वीडियो बनाकर टाइम पास कर रहा है तो कोई गूगल पर टाइम पास करने के नए -नए तरीके खोज रहा है। इसी दौरान घर पर रहने वालों के बीच एक ऐप बेहद वायरल हुआ है। इस ऐप का नाम है ‘houseparty’ ऐप।

houseparty users claim app has been hacked creators
nzherald

युवाओं के बीच यह ऐप इतनी फेमस हो रही है कि iOS और एंड्रॉइड दोनों प्लेटफॉर्म पर इसे टॉप ट्रेडिंग फ्री ऐप की लिस्ट में रखा गया है। खबर के अनुसार, सोमवार दोपहर तक काफी यूजर्स इस ऐप के माध्यम से अपने दोस्तों और रिश्तेदारों से बातचीत कर रहे थे, सब ठीक रहा लेकिन अचानक शाम होते ही कई यूजर्स ने इस ऐप को लेकर परेशानी जताई। कई यूज़र्स ने शिकायत की कि हैकर्स इस ऐप के ज़रिए इनके फोन पर निजी डेटा का इस्तेमाल कर रहे हैं। यह खबर मिलते ही इस ऐप को डिलीट करने की होड़ लग गई।

Twitter पर ट्रेंड कर रहा ये हैशटैग

काफी यूज़र्स ने लगभग एक ही जैसी शिकायत की है। इनका कहना है कि इस ऐप के ज़रिए हैकर्स फोन के बाकी ऐप जैसे इंस्टाग्राम, फेसबुक, स्पॉटीफाई से छेड़छाड़ कर रहे हैं। कई यूजर्स ने तो पैसे चोरी होने की भी शिकायत दर्ज कराई है। महज कुछ दिनों में ट्रेड़िंग हुई ऐप के खिलाफ सोशल मीडिया पर इसको डिलीट करने का सिलसिला शुरू हो गया। ट्विटर पर इस ऐप का एक हैशटैश ‘deletehouseparty’ काफी ट्रेंड होना लगा और जिन लोगों ने इस ऐप को डाउनलोड किया था, वे धीरे-धीरे इसे डिलीट करने लगे।

वहीं बात करें इस ऐप की कंपनी की तो हाउस पार्टी ऐप के एक अधिकारी ने इन सभी शिकायतों को गलत ठहराते हुए कहा है कि ये ऐप पूरी तरह से सिक्योर है। इस ऐप के ज़रिए यूज़र्स का किसी भी प्रकार का डेटा चोरी नहीं हुआ है। आगे हाउसपार्टी ऐप ने सफाई दी कि ये ऐप यूज़र्स का डेटा सिक्योर रखती है और आगे भी दूसरी वेबसाइट्स की तरह यूज़र्स का पासवर्ड नहीं चुराएगी।

क्या इस ऐप को डिलीट करना सही है?

खबरों की मानें तो ऐसा कहा जा रहा है कि हाउसपार्टी ने जो अपनी सफाई में बयान दिया है वह मुमकिन है। हो सकता है कि ‘deletehouseparty’ हैशटैग कोई फ्रॉड पेमेंट कैंपेन हो। बता दें कि हाउस पार्टी ऐप का कहना है कि इस तरह के कैंपेन को चलाने वाले को बेकनाब करने पर, कंपनी उसे 1 मिलियन बाउंटी का इनाम देगी। कंपनी के इस बयान से लगता है कि ये वाकई कोई फ्रॉड कैंपेन हो सकता हैै।

साथ ही बताया जा रहा है कि ये मुमकिन नहीं है कि ऐप में पॉपुलर बैटल गेम फोर्टनाइट क्रिएटर एपिक गेम्स की मालिकाना कंपनी हाउस पार्टी में प्राइवेसी की दिक्कत मिले। क्योंकि अगर प्राइवेसी में कोई दिक्कत होती तो कंपनी उस बग को फिक्स करने की बात ज़रूर करती। इसके अलावा हाउसपार्टी की प्राइवेसी को देंखे तो ये केवल ऐप के अंदर दिए गए यूज़र की जानकारी को ही सेव करती है। इस जानकारी में यूज़र द्वारा दिए गए कॉन्टेक्ट नंबर से जुड़ी जानकारी रहती है।

Facebook Comments