Corona Shaped Pendant: कोरोना वायरस के आकार की एक पेंडेंट को रूस की एक मेडिकल जूलरी कंपनी डॉ वेरोबेव की ओर से लांच किया गया है। कोरोनामहामारी की जब शुरुआत हुई थी, उसी दौरान कंपनी की ओर से इसकी ऑनलाइन बिक्री शुरू कर दी गई थी। इसके बाद इसे खरीदने के लिए भी लोगों का तांता लग गया था। कीमत इसकी 1000 रुपये रखी गई है।

Corona Shaped Pendant – सोशल मीडिया में ट्रोल हुई कंपनी

हालांकि, सोशल मीडिया में बहुत से यूजर्स द्वारा कंपनी की ओर से उठाए गए इस कदम की कड़ी आलोचना भी की जा रही है। इनका कहना है कि ऐसे प्रतिकूल हालात में भी कंपनी की ओर से महामारी को भुनाने के लिए इसे लांच किया गया है। कंपनी इसमें भी अपना फायदा देख रही है। वहीं दूसरी ओर कंपनी के फाउंडर का कहना है कोरोना से बचाने के लिए चिकित्साकर्मी जो काम कर रहे हैं, इस पेंडेंट के जरिए उन्हें सपोर्ट करने की कोशिश उनकी कंपनी की ओर से की गई है।

डॉक्टरों को कर रहे गिफ्ट – Corona Shaped Pendant

Corona shaped pendant launched
Reuters

कंपनी के फाउंडर पावेल वोरोबोव के हवाले से मीडिया रिपोर्ट्स में बताया गया है कि उन्होंने इस प्रोजेक्ट को इसलिए लांच किया, ताकि वे डॉक्टर जो कोरोना वायरस के संक्रमितों का इलाज कर रहे हैं, उन्हें सपोर्ट किया जा सके। उन्होंने कहा कि वायरस पर हम सब की जीत का यह पेंडेंट एक तरीके से प्रतीक है। वोरोबोव की ओर से यह दावा भी किया गया है कि कोरोना के जो मरीज ठीक हो जा रहे हैं, वे यह पेंडेंट खरीद रहे हैं और डॉक्टरों को गिफ्ट में दे रहे हैं।

अंगों के आकार की जूलरी

वोरोबोव के हवाले से मीडिया रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि सोशल मीडिया पर जो उनके फॉलोअर्स मौजूद हैं, वे उनका पूरा सम्मान करते हैं। डॉक्टरों के साथ आमजन भी इनमें शामिल हैं। उन्होंने बताया कि जब कोरोना वायरस की पहली तस्वीर सामने आई थी, तभी से कंपनी ने इस पेंडेंट को बनाने की तैयारी अपनी ओर से शुरू कर दी थी। आमतौर पर कंपनी दिल, डीएनए और शरीर के विभिन्न अंगों के आकार की जूलरी बनाती है।

यह भी पढ़े कोलकाता के मिठाई दुकानदार ने कोरोना वायरस जैसी बनाई मिठाई, नाम रखा कोरोना संदेश

ब्रॉच की तैयारी

वोरोबोव का यह भी कहना है कि पेंडेंट तो कंपनी ने बना लिया, पर अब कंपनी की तैयारी कोरोना ब्रॉच तैयार करने की है। यह ब्रॉच पिंजरे के आकार वाला होगा और इसमें कोरोना वायरस अंदर कैद दिखेगा।

Facebook Comments