कोरोना वायरस के संक्रमण की स्थिति अभी दुनिया भर में भयावह होती जा रही है। इससे संक्रमित मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा होता जा रहा है। साथ ही इसकी वजह से मरने वालों की तादाद भी तेजी से बढ़ती जा रही है। सदी की यह सबसे भयंकर महामारी के रूप में सामने आई है। यही वजह है कि पूरी दुनिया इस वक्त घुटनों पर आ गई है। सारे इंतजाम इसके सामने छोटे नजर आ रहे हैं। कोरोना वायरस से लड़ने के लिए दुनिया भर में कई देश लॉकडाउन का पालन कर रहे हैं। भारत में भी जिस तरीके से कोरोना वायरस का संक्रमण तेजी से बढ़ने लगा है, वैसे में लॉकडाउन का गंभीरता से पालन करना बहुत ही महत्वपूर्ण बताया जा रहा है। बीते 24 मार्च को देशभर में संपूर्ण लॉकडाउन की घोषणा करने के बाद एक बार फिर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से रविवार को अपनी मन की बात में देश की जनता से इसका गंभीरता से पालन करने की अपील की गई है।

संसत में डाल रहे जान

लॉकडाउन के बीच देशभर से अलग-अलग तस्वीरें सामने आ रही हैं। जहां कई जगहों पर लोग गंभीरता से इसका पालन करते हुए दिख रहे हैं, वहीं कई जगहों से ऐसी तस्वीरें भी सामने आई हैं, जो दिखा रही हैं कि लॉकडाउन के प्रति लोग गंभीर नहीं हैं। ऐसे में पटना से लॉकडाउन के बीच एक मिसाल कायम करने वाली खबर सामने आ रही है, जो उन लोगों के लिए प्रेरणा का स्रोत हो सकती है, जो कि लॉकडाउन की गंभीरता को नहीं समझ रहे हैं और इतनी विकट स्थिति होने के बावजूद अब भी लापरवाही बरत कर अपनी और साथ में दूसरों की भी जान को संसत में डाल रहे हैं।

अनोखी रही ये शादी

देशभर में जब संपूर्ण लॉकडाउन है और किसी भी तरह का ऐसा कार्यक्रम आयोजित करने पर रोक लगी हुई है, जिसमें कि ज्यादा तादाद में लोग जमा हो सकते हैं, वैसे में पटना से एक अनोखी घटना प्रकाश में आई है। इस वक्त जब धार्मिक आयोजन नहीं हो रहे हैं, शादी विवाह भी नहीं हो पा रहे हैं और सभी रीति-रिवाज ठप पड़े हुए हैं, तो ऐसे में पटना में हुई एक अनोखी शादी सुर्खियां बटोर रही है। यह एक ऐसी शादी है, जिसमें न तो कोई बाराती देखने को मिला और न ही किसी प्रकार का कोई सांस्कृतिक आयोजन ही किया गया।

धरी रह गई सारी तैयारी

इसमें कोई शक नहीं कि जिस तरीके से कोरोना वायरस फैला है, ऐसे में बहुत से लोगों ने इसे देखते हुए अपनी सोच को भी बदल लिया है। पटना के फुलवारीशरीफ में इसका उदाहरण देखने को मिला है। पटना की रहने वाली सदब नसरीन का निकाह उत्तर प्रदेश के साहिबाबाद के रहने वाले दानिश रजा से तय हुआ था। यह निकाह 24 मार्च को होने वाला था। इसी दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण का खतरा देखते हुए देशभर में संपूर्ण लॉकडाउन की घोषणा कर डाली। ऐसे में सारी गतिविधियां ठप हो गईं। लोगों का एक जगह से दूसरी जगह जाना अब नामुमकिन हो गया। दुल्हन के पिता सलाउद्दीन की ओर से बताया गया कि लॉकडाउन के बीच बारातियों का आना असंभव था। साथ ही लोगों को भी आमंत्रित नहीं किया जा सकता था।

वीडियो कांफ्रेंसिंग बना जरिया

आखिरकार परिवार ने तय किया कि शादी अपने तय वक्त से ही होगी। ऐसे में इसे ऑनलाइन प्रक्रिया के जरिए पूरा करने का फैसला किया गया। मौलाना को बुलाकर एक स्क्रीन उनके सामने रख दी गई, जिसमें एक और दूल्हा नजर आ रहा था तो दूसरी ओर दुल्हन। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए ही मौलाना ने इन दोनों का निकाह भी करा दिया। इस तरह से दोनों की शादी हो गई। पिता सलाउद्दीन ने बताया कि जब लॉकडाउन समाप्त हो जाएगा तो दुल्हन की विदाई भी कर दी जाएगी ।

Facebook Comments