शादी करना जिंदगी का एक ऐसा मोड़ होता है जहां पर दो शख्स एक–दूसरे के साथ सात जन्मों तक रहने का फैसला करते हैं। हालांकि शादी के बाद लोगों के ऊपर कई तरह की जिम्मेदारियां आ जाती हैं, उनका परिवार होता है बच्चे होते हैं जिनका पालन पोषण करने के लिए आपको अपनी जिंदगी को एक सही तरीके से प्लैन करना होता है। जब आप अपनी सारी रेस्पांसिबिलिटी उठाने के लिए तैयार हो जाते हैं तब आप शादी करने का फैसला करते हैं। बात करें भारत देश की तो यहां पर मां-बाप अपने बेटे और बेटी के लिए सुयोग्य वर और वधू की तलाश करते हैं। भारत में शादी सिर्फ दो लोगों में नहीं बल्कि दो परिवारों में होती है। जहां पर दो परिवार एक हो जाते हैं।

जब भी शादी के लिए लड़का या लड़की की तलाश की जाती है तो उसके साथ ही उसके घर वालों के बारे में भी पूरी तरह से पता किया जाता है। यदि सबकुछ ठीक रहता है तो लड़का और लड़की की शादी करवा दी जाती है। लेकिन अगर आपको कहा जाए कि आपको शादी करने से पहले एक परीक्षा में पास होना जरूरी है तो आपको ये सुनकर अजीब जरूर लगेगा कि आखिर शादी करने के लिए कौन सी परीक्षा होती है। लेकिन ये बात बिल्कुल सच है। आज हम आपको एक ऐसे देश के बारे में बताएंगे जहां पर शादी करने से पहले आपको एक कोर्स करना होता है और उसकी परीक्षा में पास होने के बाद ही आपको शादी करने कि अनुमति मिलती है। तो चलिए बताते हैं आपको क्या है पूरा माजरा।

बता दें कि यह नियम इंडोनेशिया देश का है। जहां पर शादी के लिए जरूरी जिम्मेदारियों को निभाने का कोर्स चलाया जा रहा है। इस कोर्स के चलते शादी करने के लिए तैयार लड़के और लड़की को शादी के बाद परिवार, घर से संबंधित जरूरी जिम्मेदारियों के बारे में सिखाया जाता है। इसके साथ ही इस कोर्स में यह भी देखा जाता है कि जो लड़का और लड़की शादी करने जा रहे हैं वो युवक और युवतियां शादी के लिए मानसिक और शारीरिक रूप से माता-पिता बनने के लिए कितना तैयार हैं।

तीन महीने का कोर्स

इंडोनेशिया में ये कोर्स तीन महीने का है और इसकी कोई भी फीस नहीं ली जाती है। हालांकि इस कोर्स को पूरा करने के बाद आपको एक सर्टिफिकेट दिया जाता है। इंडोनेशिया के मानव विकास और सांस्कृतिक मंत्रालय ने बताया कि ये कोर्स पहले भी था लेकिन अब इसे पूरे देश में लागू कर दिया गया है।

इस कोर्स के चलते शादी करने जा रहे लड़के और लड़की को शादी के बाद घरेलू जीवन से जुड़ी कई बारीक बातों के बारे में बताया जाता है। क्योंकि शादी तो हर कोई कर लेता है लेकिन उसके बाद आने वाली जिम्मेदारियों को निभाने में कुछ लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। इस कोर्स में केवल परिवार चलाने के नुस्खे ही नहीं बताए जाएंगे बल्कि बच्चों की देखभाल कैसे करनी हैं और उनकी बीमारियों से कैसे बचाना है यह सब भी सिखाया जाएगा। खतरे की बात तो यह है कि अगर कोई लड़का या लड़की इस परीक्षा में फेल हो जाते हैं तो उनसे शादी करने का अधिकार भी छीन लिया जाएगा। इंडोनेशिया के अखबार के मुताबिक ये कोर्स 2020 से शुरू होगा।

Facebook Comments