आज के दौर में लोग शारीरिक परेशानियों से ज्यादा मानसिक तकलीफों से गुजरते हैं, कारण सभी की जिंदगी में तनाव ने जगह बना ली है। ऐसे में हम आपको किसी मानसिक बीमारी या रोगी से नहीं मिलाने जा रहे हैं बल्कि एक ऐसी शख्सियत से रूबरू कराएंगे जिसने खुद को इंसान ना मानकर बल्कि एक काल्पनिक चरित्र मान लिया है। ये लड़की आस्ट्रेलिया के क्वींसलैंड की रहने वाली है, इनका नाम जॉर्जिया कॉन्डन है।

जॉर्जिया के बारे में बताने से पहले हम आपको फिल्मों के बारे में कुछ बताना चाहते हैं। आपने सुना होगा कि लोग फिल्मों को देखकर के काफी चीजों की कॉपी करते हैं और फिल्मों में दिखाई जाने वाली चीजों से इंस्पायर होकर उन चीजों को अपनी असल जिंदगी में भी शरीक करते हैं। लेकिन आज हम आपको कुछ ऐसा बताएंगे जिसे सुनकर आप हैरान हो जाएंगे। फिल्में देखना, उनको पसंद करना और उनकी चीजों को अपनी जिंदगी में शामिल करने के चलते कोई अपनी जिंदगी को ही बदल दे और तब क्या हो जब एक इंसान खुद को बदलकर एक वैंपायर बना ले। फिल्मों को देखकर उसके लिए ऐसी दीवानगी सुनकर आपको यकीन नहीं हो रहा होगा, लेकिन जॉर्जिया ने असल जिंदगी में फिल्मों के किरदार को शामिल कर लिया है। तो चलिए आपको बताते हैं कौन है जॉर्जिया और वो कैसे एक वैंपायर बन गई।

real life vampire georgia
naidunia

आस्ट्रेलिया की रहने वाली जॉर्जिया एक वैंपायर हैं। जी हां, आपको सुनने में थोड़ा अजीब लग रहा होगा, लेकिन हम जो आपको बता रहे हैं वो बिल्कुल सही है। आपने अब तक टीवी सीरीज और फिल्मों में वैंपायर की कहानियां तो बहुत देखी होंगी। कई फिल्में भी देखी होंगी जिसमें वैंपायर्स होते हैं जो लोगों का खून पीकर जिंदा रहते हैं। लेकिन तब क्या हो जब आपको असल जिंदगी में कोई वैंपायर मिल जाए।

जी हां, आपको ऐसा सोचकर भी डर लग रहा होगा, लेकिन जॉर्जिया असल जिंदगी में एक वैंपायर बन गई हैं। जॉर्जिया 38 साल की हैं और आस्ट्रेलिया के क्वींसलैंड में रहती हैं। जॉर्जिया असल में इंसानों का खून पीती हैं। आपको सोचकर भी घिन आ रही होगी, लेकिन जार्जियां बिना खून पिए नहीं रह पाती हैं।

12 साल की उम्र से पी रही हैं खून

जॉर्जिया ने 12 साल की उम्र से ही इंसानों का खून पीना शुरू कर दिया था। 12 साल की उम्र में उन्होंने पहली बार इंसानी खून का स्वाद चखा और इसके बाद से उनकी खून पीने की चाहत और अधिक बढ़ गई। जॉर्जिया ना सिर्फ खून पीती हैं बल्कि वो फिल्मों में दिखाए गए वैंपायर की तरह ही धूप में भी निकलने से कतराती हैं। 17 साल की उम्र में जॉर्जिया की दोस्ती एक ऐसी लड़की से हुई जिन्होंने उन्हें कई दिनों तक अपना खून पिलाया।

कैसी बनीं वैंपायर

दरअसल, जॉर्जिया को फिल्में देखना बहुत पसंद था और जॉर्जिया ने वैंपायर्स की बहुत सी फिल्में देखी जिसमें ट्विलाइट, ट्रू ब्लड, वैम्पायर डायरी शामिल हैं। इन फिल्मों को देखने के बाद जार्जिया ने उस किरदार को खुद में ढाल लिया और वो खुद एक वैंपायर बन गई। फिल्मों से वो इतनी ज्यादा इंस्पायर हो गई कि आज वह उसी तरह से व्यवहार करती हैं जैसा फिल्मों में वैंपायर को दिखाया गया है। मतलब कि जॉर्जिया के वैंपायर बनने के पीछे की वजह फिल्में ही हैं। आमतौर पर लोग अपने फेवरेट स्टार को फॉलो करते हैं लेकिन जॉर्जियां ने खुद को फिल्मे देखकर एक वैंपायर ही बना लिया।

बॉयफ्रेंड पिलाता है खून 

बता दें कि जॉर्जिया के बॉयफ्रेंड जमाएल उनको अपना खून पिलाते हैं। दरअसल, जब जॉर्जिया वैंपायर बन गई तो वो एक इवेंट में शामिल होने गई। ब्रिसलेन के ब्लडलस्ट बॉल इवेंट में वो लोग आते हैं जो असल में खून पीते हैं। उस इवेंट के दौरान ही जॉर्जिया की मुलाकात जमाएल से हुई। जिसके बाद उन्होंने जमाएल से खून पीने की इच्छा जाहिर की।  जमाएल भी इस बात पर राजी हो गए और वो तब से लेकर अब तक जॉर्जिया को अपना खून पिलाते हैं।

बीमारियों से ग्रस्त हैं जॉर्जिया

आपको बता दें कि जॉर्जिया और बॉयफ्रेंड दो सालों से रिलेशनशिप में हैं और तब से उनका बॉयफ्रेंड उनको हर हफ्ते अपना खून पिलाता है। वहीं इंसानी खून पीने के चलते जॉर्जिया कई बीमारियों से ग्रस्त भी हैं। जॉर्जिया को एनीमिया और थैलसीमिया जैसी बीमारी हैं, जिस वजह से उन्हें इंसानी खून का स्वाद अच्छा लगता है। जॉर्जिया की खून पीने की आदत आपको अजीब लग रही होगी, लेकिन बता दें कि सिर्फ जॉर्जिया ही नहीं बल्कि दुनिया में और भी कई ऐसे लोग हैं जिनको खून पीने की आदत है। लेकिन वो दुनिया के सामने अपनी इस आदत को स्वीकार नहीं कर पाए हैं। लेकिन ये सुनने में बेहद ही अजीब है।

Facebook Comments