जीवन और मरण जिंदगी के दो ऐसे सत्य और रहस्य हैं जिन से आज तक विज्ञान भी पर्दा नहीं उठा पाया है। मरने के बाद व्यक्ति कहां जाता है, उसके साथ क्या होता है, ये सभी बातें आज तक एक ऐसा रहस्य बनी हुई हैं जिनका कोई सही जवाब नहीं मिल पाया है। आज की कहानी भी कुछ ऐसी ही है।

आज हम आपको एक ऐसी महिला के बारे में बताएंगे जिसकी मृत्यु हुई, घर में उसके अंतिम संस्कार की तैयारियां चल रही थी लेकिन फिर अचानक ही वो स्वर्ग की सैर करके वापस आ गई। जी हां, सुनने में आपको यकीन नहीं हो रहा होगा, लेकिन उस महिला के मुताबिक मरने के बाद वह स्वर्ग गई और फिर वहां से वापस आकर जीवित हो गई। तो चलिए आपको बताते हैं इस पूरी घटना के बारे में।

पंजाब के गुरदासपुर का मामला

swarg ki sair kar wapas aayi mahila
himachal janadesh

ये पूरी घटना घटित हुई पंजाब के गुरदासपुर जिले में, जहां पर एक महिला जिसका नाम बीरो देवी था उसकी मौत हो गई। बीरो देवी डायबिटीज से पीड़ित थी। रात में अचानक ही जब घर वाले उनके पास गए तो उन्होंने पाया कि उनकी सांसे नहीं चल रही हैं। तभी घर वालों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया और घर में मातम पसर गया। आठ घंटों के बाद अचानक ही बीरो देवी वापस से जिंदा हो गई और उसके बाद जो उन्होंने बताया उसे सुनकर तो सबके होश उड़ गए।

डॉक्टरों ने भी मृत घोषित किया

बता दें कि जब बीरो देवी के घर वालों ने उनकी सांसे रूकी हुई देखी तो वो उनको डॉक्टर के पास लेकर गए। जहां पर डॉक्टरों ने उनका चेकअप करने के बाद उन्हें मृत घोषित कर दिया और उसे घर ले जाने की सलाह दी। घर में उनके अंतिम संस्कार की तैयारी चल रही थी। लोग उनके पार्थिव शरीर के पास बैठकर विलाप कर रहे थे तभी वहां बैठे एक परिजन ने बीरो देवी के शरीर में हरकत महसूस की। जब बीरो देवी के दिल के पास कान लगाकर सुना गया तो उनकी धड़कनें चल रही थी।

शरीर में वापस आ गयी जान

देखते ही देखते बीरो देवी के मृत शरीर में जान आ गई। वो अचानक ही उठकर बैठ गई और उन्हें देखकर लोग घबरा गए। जब लोगों ने बीरो देवी से पूछताछ की तो उन्होंने बताया कि वह स्वर्ग घूमकर आई हैं। उसने बताया कि पास के मुहल्ले से यमराज को किसी को ले जाना था, लेकिन गलती से उसे लेकर चले गए थे। जब यमराज को गलती का एहसास हुआ तो उन्होंने दोबारा से मेरी आत्मा को इस शरीर में भेज दिया।

बीरो देवी को जब दोबारा जीवित पाया गया तो उनके घर वाले वापस से उनको अस्पताल लेकर गए। जहां पर तीन दिनों तक उनका इलाज हुआ और इसके बाद उनको घर वापस भेज दिया गया है। सिविल अस्पताल के हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ. मनजिंदर सिंह बब्बर ने कहा कि महिला जो कुछ भी कह रही है वह झूठ है। उन्होंने कहा कि हो सकता है कि बीरो देवी का शुगर लेवल काफी कम हो गया होगा। इस कारण शरीर में हरकत बंद हो गई होगी। इसी वजह से उन्हें मृत घोषित कर दिया गया होगा। उन्होंने कहा कि मृत घोषित करने से पहले अगर ईसीजी टेस्ट किया गया होता शायद यह गड़बड़ी नहीं होती।

बता दें कि यह कोई पहली ऐसी घटना नहीं हैं बल्कि इसके पहले भी इस तरह की घटना कई लोगों के साथ घटित हो चुकी है, जिसमें वो मरने के बाद वापस से जिंदा हुए हैं। हालांकि, ऐसा क्यों होता है और इसके पीछे की असल वजह क्या है इसके बारे में कोई भी पुख्ता जानकारी आज तक नहीं मिल पाई है।

Facebook Comments