Skin Care Tips: त्वचा हर किसी की अलग-अलग होती है। यही वजह है कि त्वचा की देखभाल के तरीके भी अलग-अलग त्वचा के लिए अलग-अलग हो जाते हैं। त्वचा इतनी नाजुक होती है कि यदि इसकी देखभाल में आपने जरा भी लापरवाही बरती, तो इसके दुष्परिणाम कई रूप में देखने के लिए मिलने लगते हैं। उदाहरण के लिए आपके चेहरे पर पिंपल्स निकल आते हैं। त्वचा रूखी और बेजान दिखने लगती है। उसी तरह से एक्ने और दाने आपकी त्वचा पर इतने भर जाते हैं, त्वचा की खूबसूरती ही ये छीन लेते हैं। इसलिए यहां हम आपको बता रहे हैं कि अपनी स्किन टाइप को पहचानकर किन तरीकों से आपको अपनी त्वचा का ख्याल रखना चाहिए।

नाॅर्मल स्किलन के लिए

यदि त्वचा आपकी नाॅर्मल यानी कि इस तरह की है कि न तो यह ज्यादा तैलीय नजर आती है और न ही एकदम रूखी। एक तरह से संतुलन आपके चेहरे पर देखने को मिलता है। दरअसल इस तरह की त्वचा में सीबम का सही तरीके से उत्पादित होता है। इसके कारण खून का संचार भी त्वचा के अंदर अच्छी तरह से होता रहता है। आपको इस तरह की त्वचा के लिए ऐसी सनस्क्रीन लगानी चाहिए, जिसमें तेल की मौजूदगी न हो। एक और बात, सोते वक्त आप अपने मेकअप को जरूर उतार दें। साथ ही सोने जब जा रही हैं, तो उससे पहले चेहरे को धो लें और उस पर क्लींजिंग भी लगा लें।

तैलीय त्वचा के लिए (Oily Skin)

oily skin
bioelements

यदि त्वचा आपकी ऑयली तो इसमें चेहरे के साथ आपकी नाक पर भी तेल का जमाव दिखता रहता है। इस तरह की त्वचा के साथ मुंहासों की समस्या अधिकांशतः देखने को मिलती है। सीबम इतनी अधिक मात्रा में ऐसी त्वचा में पैदा होता है पूरी त्वचा को एकदम तैलीय बना देता है। इस तरह की स्किन यदि है आपको तो पानी आप भरपूर पीया करें। साथ ही अपनी स्कीन को मॉइश्‍चरज भी करती रहें। फेश वाश का इस्तेमाल करते हुए दिनभर में चेहरे को दो बार जरूर धो लें।

रूखी त्वचा के लिए (Skin Care Tips)

Dry Skin
stylecraze

त्वचा यदि आपकी रूखी है या परतदार है तो ऐसे में त्वचा में एक खिंचाव या कसाव का महसूस होता रहता है। इसी के कारण त्वचा में जलन की भी अनुभूति हमेशा होती रहती है। साथ ही त्वचा को देखकर ऐसा लगता है जैसे कि यह जगह-जगह से कटी-फटी हो। ऐसे में बेहतर यही होगा कि अपनी स्किन को आप लगातार मॉइश्‍चरज करती रहें। इसके अलावा रोजाना आपको पानी भी जमकर पीना चाहिए। इसके अलावा नियमित रूप से सनस्क्रीन का इस्तेमाल करना भी आपके लिए बहुत ही आवश्यक है।

कॉम्बिनेशन स्किन के लिए

इस तरह की स्किन का मतलब यह हुआ कि आपकी त्वचा तैलीय भी है और रूखी भी। इसमें जहां ठोड़ी, माथा और नाक की त्वचा एकदम तैलीय नजर आती है, वहीं गाल एकदम रूखे नजर आते हैं। इस तरह की त्वचा यदि है आपकी तो आपको क्लींजर का इस्तेमाल नियमित रूप से करने की आदत डाल लेनी चाहिए। ध्यान रखें कि अपनी स्किन को स्क्रबिंग आपको नहीं करनी है। बेहतर होगा कि इसकी जगह आप स्किन को एक्सफोलिएट करें। साथ ही सनस्क्रीन तो आपको जरूर लगाना है और केवल उन्हीं उत्पादों को प्रयोग में लाना है, जिसमें तेल की मौजूदगी न हो।

यह भी पढ़े

संवेदनशील त्वचा के लिए

इस तरह की जिनकी स्किन होती है, वह बड़ी नाजुक होती है। छोटी-छोटी चीजों का असर स्किन पर होता है। मसालेदार भोजन और नये उत्पादों के निर्माण तक ऐसी स्किन पर प्रभाव डालते हैं। इसमें गर्मी के दिनों में त्वचा तैलीय हो जाती है तो सर्दी के दिनों में एकदम रूखी और बेजान। कसाव भी स्किन पर नजर आने लगता है। खुजलाहट होने लगती है। ऐसे में बेहतर होगा कि माॅश्चराइजर, क्लींजर और सनस्क्रीन लगाने की आदत आप डाल लें। स्किन केयर और ब्यूटी प्रोड्क्ट्स का इस्तेमाल आप संतुलित मात्रा में कर सकती हैं।

Facebook Comments