सावन 2019: इस वजह से भगवान शिव को चढ़ाया जाता है बेलपत्र, जानें इससे जुड़े खास नियम

सावन का पावन महीना शुरू होते ही शिव भक्तों में खुशी की लहर छा गयी है। शिव के भक्त जगह-जगह कांवड़ ले जाते हुए दिखाई दे रहे हैं। यह महीना कोई भी शुभ कार्य आरंभ करने के लिए बेहद अच्छा…

सावन स्पेशल: देवों के देव महादेव ने लिए थे 19 अवतार, हर अवतार का है अपना एक अलग महत्व

सावन का पावन महीना चल रहा है। ये महीना भगवान शिव को समर्पित होता है. इस महीने में जो कोई भगवान शिव की दिल से पूजा-अर्चना करता है, उसे फल अवश्य मिलता है। इस पोस्ट में हम आपको शिवजी के…

इन 10 चीजों का भोग लगाने से प्रसन्न होते हैं भगवान शिव, पूजा में जरूर करना चाहिए इनका इस्तेमाल

Shivratri Bhog: सावन का पावन महीना चल रहा है। हर जगह भगवान शिव के भक्त पूजा-पाठ में लीन हैं। जगह-जगह भक्त कांवड़ ले जाते हुए भी दिखाई दे रहे हैं। इस दौरान भगवान शिव की पूजा अर्चना करने से शुभ…

भगवान शिव के अत्यंत फलदायी मंत्र

Shiv Ji ke Mantra in Hindi: सावन माह में महादेव की पूजा का अलग ही महत्व है इनकी पूजा अर्चना के लिए मंत्र जाप अत्यंत लाभकारी माने गए है वैसे तो देवो के देव महादेव का मूल मंत्र ॐ नमः…

ये 5 फूल हैं शिवजी को बेहद प्रिय, सावन में मनोकामना पूरी करने के लिए चढ़ाएं ये खास फूल

सावन का महीना शुरू होते ही हर तरफ एक पावन सा माहौल हो जाता है। हर तरफ भगवान शिव के भक्त ‘जय जय महादेव’ और ‘बम बम भोले’ का जयकार लगाते हुए सुनाई देते हैं। बता दें, 17 जुलाई से…

कांवड़ यात्रा के अलग-अलग नाम और उनके नियम (Kanwar Yatra Types)

श्रावण मास शुरू हो गया है और इस समय शिव भक्त कांवड़ लेकर गंगाजल लेने जाते हैं और उसी जल को शिव भगवान पर चढ़ा कर उनका जलाभिषेक करते है। माना जाता है ऐसा करने से शिव भगवान प्रसन्न होते…

कांवड़ यात्रा के दौरान इन कठोर नियमों का पालन करते हैं कांवड़िये, जानें आखिर क्या है ‘कांवड़’ का मतलब

भगवान शिव का पावन महीना शुरू हो गया है। 17 जुलाई से सावन शुरू हो गया है जो कि अगले महीने की 12 तारीख को जाकर खत्म होगा। शिव भक्तों के लिए यह महीना बेहद ख़ास होता है। इस पूरे…

आखिर क्यों महाकालेश्वर में की जाती है चिता की भस्म से शिव की आरती, जानिए भस्म आरती का महत्व

भगवान भोलेनाथ को विचित्र चीजों से ही प्रेम है। भगवान की पूजा में जहरीले धतूरे से लेकर नशीली भांग का इस्तेमाल किया जाता है। भोलेनाथ को अड़भंगी भी कहा जाता है। भगवान अपने शरीर पर भस्म लगाये रहते हैं। लेकिन…

Mahakal Shringar: कभी दीखते है राजा तो कभी अघोड़दानी

महाकाल श्रृंगार दर्शन उज्जैन के बाबा महादेव को हर बार 1 अलग रूप में सजते हुए देख पाना अपने आप में सौभाग्य की प्राप्ति जैसा है। सुबह 4 बजे भस्म सेसे टी श्रृंगार किया जाता है तो शाम को ड्राई…

12 ज्योतिर्लिंग के नाम और उनकी कहानी [12 Jyotirling Name and Place in Hindi]

1 सोमनाथ ज्योतिर्लिंग 2-मल्लिकार्जुन 3-महाकालेश्वर 4-ओंकारेश्वर 5-केदारनाथ 6-भीमाशंकर 7-काशी विश्वनाथ 8 -त्र्यंबकेश्वर 9-वैद्यनाथ 10-नागेश्वर ज्योतिर्लिंग 11-रामेश्वरम ज्योतिर्लिंग 12-घृष्णेश्वर