Ramayan Ending Edited: लॉकडाउन शुरू होने के साथ ही दूरदर्शन पर रामानंद सागर के प्रचलित शो रामायण का प्रसारण भी शुरू कर दिया गया था। ऐसा विशेष रूप से दर्शकों की भारी मांग के बाद किया गया। चूँकि रामायण सीरियल काफी लंबा है इसलिए लॉकडाउन की अवधि में ही इसे ख़त्म करने के उद्देश्य से रामायण को दिन में दो बार दूरदर्शन पर प्रसारित किया जाने लगा। पहला एपिसोड सुबह और दूसरे एपिसोड को शाम को प्रसारित किया जाता है। इस स्पीड से चलते हुए रामायण अब अपने अंत पर पहुंच चुका है। लेकिन इस बीच दर्शकों का ये कहना है कि, दूरदर्शन की टीम ने दर्शकों के साथ धोखा किया है क्लाइमेक्स सीन को एडिट कर दिखाया है। इसके साथ ही दर्शकों का यह भी कहना है कि, रामायण से बहुत से सीन को हटा भी दिया गया है। आइये आपको इस खबर के बारे में विस्तार से बताते हैं।

रामायण से हटाए गए इन सीन्स को (Doordarshan Ramayan Ending Edited)

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, दूरदर्शन पर प्रसारित किये जाने वाले रामायण में बहुत से महत्वपूर्ण सीन्स को एडिट कर हटा दिया गया है। जी हाँ दर्शकों का ऐसा कहना है कि, रामानंद सागर के रामायण के साथ किसी भी प्रकार का छेड़छाड़ नहीं होना चाहिए। उन्होनें मास्टरपीस बनाई थी और उसे वैसे ही प्रसारित किया जाना चाहिए था। लेकिन रामायण को जल्दी ख़त्म करने के लिए इससे कुछ महत्वपूर्ण सीन्स को हटा दिया गया है। राम और रावण के युद्ध को भी काफी शार्टकट में निपटा दिया गया, इसके अलावा जब राम, सीता और लक्ष्मण लौट कर अयोध्या आते हैं तो उस समय लक्ष्मण का उनकी पत्नी उर्मिला से मिलन का सीन भी काट दिया गया है। इतना ही नहीं इस रामायण से उस सीन को भी हटा दिया गया है जहाँ हनुमान जी अपनी छाती चीड़ कर राम और सीता की तस्वीर दिखाते हैं।

जानें दर्शकों की क्या है प्रतिक्रिया (Ramayan fans Upset as they think Episodes were Edited)

https://twitter.com/shashidigital/status/1251365326551347202?s=20

रामायण से बहुत से इन अहम् सीन को हटाए जाने से दर्शक काफी निराश हैं। सभी ने ट्विटर पर ट्वीट कर अपनी-अपनी प्रतिक्रिया जाहिर की है। दर्शकों के इस ट्वीट से उनकी नाराज़गी का अंदाजा बखूबी लगाया जा सकता है। एक शख्स ने लिखा है कि, “मैं सभी दर्शकों से निवेदन करता हूँ कि, वो दूरदर्शन और सागर ग्रुप से रामायण और श्री कृष्णा जैसे मास्टरपीस को जस का तस दिखाएं जाने की अपील करें, उनके साथ किसी प्रकार का एडिट या छेड़छाड़ ना किया जाए। एक अन्य दर्शक ने ट्विटर पर दूरदर्शन को निशाना बनाते हुए अपने ट्वीट में लिखा है “ रामायण में ना तो हनुमान जी के बेटे मकरध्वज को दिखाया गया और ना ही वो सीन जिसमें अहिरावण राम और लक्ष्मण का अपहरण कर उन्हें पाताल लोक ले जाते हैं।”

बहरहाल देखा जाए तो दर्शकों का गुस्सा बिल्कुल ज़ायज है। अगर आप रामायण दिखा ही रहे हैं तो नई पीढ़ी को इसके सभी वाकये मालूम होना चाहिए। इसलिए इसका अनकट प्रसारण होना चाहिए न की किसी एडिट के साथ।

Facebook Comments