बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद के खिलाफ बीएमसी ने बेहद सख्त रवैया अपना लिया है। कोर्ट में बीएमसी(Brihanmumbai Municipal Corporation) ने सोनू सूद को आदतन अपराधी बताया है। बीएमसी ने कोर्ट में यह दलील दी है कि सोनू सूद(Sonu Sood) नियमों का उल्लंघन करते हुए लगातार अवैध निर्माण कराते जा रहे हैं।

16 पन्ने का हलफनामा

मुंबई हाईकोर्ट में बीएमसी की तरफ से 16 पन्ने का हलफनामा दायर किया गया है। इस हलफनामे में साफ कहा गया है कि सोनू सूद(Sonu Sood) एक ऐसे होटल को बचाने की अपील कर रहे हैं, जो कि पूरी तरह से MRTP, MMC एक्ट के खिलाफ है। हलफनामे में बीएमसी ने यह भी कहा है कि सोनू सूद ने नोटिस को भी लगातार नजरअंदाज किया है।

सोनू सूद(Sonu Sood) पर लगाया यह भी आरोप

अवैध निर्माण के जरिए सोनू सूद(Sonu Sood) पर पैसे कमाने का भी आरोप भी BMC ने लगा दिया है। BMC का कहना है कि यही कारण है कि सोनू सूद ने इसके लिए लाइसेंस भी लेना जरूरी नहीं समझा। BMC का यह दावा है कि मुंबई के जुहू इलाके में जो 6 मंजिला रिहायशी इमारत बनी हुई है, इसे बिना परमिशन के सोनू सूद ने होटल में तब्दील कर दिया है।

तब हुई थी शुरुआत

BMC ने कोर्ट में यह बताया है कि बीते जनवरी में ही इस मामले की शुरुआत हो गई थी, जब लोकायुक्त ने BMC को इसे लेकर फटकार लगाई थी। इसके बाद उसने इमारत का जायजा लिया था और बीते अक्टूबर में सोनू सूद को नोटिस भी भेजा था।

यह भी पढ़े

दलील का मकसद

इस तरह की दलील देकर BMC सोनू सूद(Sonu Sood) को कोर्ट से किसी भी तरह की राहत नहीं लेने देना चाहती है। संभव है कि बुधवार को कोर्ट इसे लेकर कोई फैसला सुनाए। यह किसके पक्ष में आता है, इसका इंतजार सभी को बेसब्री से है।

Facebook Comments