Gautam Gambhir Said That Its Time To Remove Virat: आईपीएल 2020 के एलिमिनेटर मुकाबले में सनराइजर्स हैदराबाद(Sunrisers Hyderabad) ने रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर को 6 विकेट से हराकर उसे टूर्नामेंट से बाहर कर दिया। डेविड वॉर्नर की टीम का अब क्वालीफायर 2 में दिल्ली से रविवार को सामना होगा।

हैदराबाद ने पहले फील्डिंग करने का फैसला किया और शानदार गेंदबाजी के दम पर बैंगलोर को 20 ओवर में 131 रन के स्कोर पर रोक दिया। आरसीबी की ओर से कप्तान विराट कोहली(Virat Kohli) का बल्ला एक बार फिर शांत रहा। जेसन होल्डर ने विराट कोहली और देवदत्त पडिक्कल को जल्दी पवेलियन भेजकर आरसीबी पर दबाव बना दिया। आरोन फिंच और एबी डिविलियर्स ने पारी को संभालने की कोशिश की, लेकिन रन गति तेज करने के चक्कर में फिंच 32 रन बनाकर पवेलियन लौट गए। आरसीबी की ओर से सबसे अधिक डिविलियर्स ने 56 रन की पारी खेली।

कोहली को कप्तान से हटा देना चाहिए – गंभीर

आरसीबी की हार पर और विराट कोहली की कप्तानी को लेकर गौतम गंभीर(Gautam Gambhir) ने अपनी प्रतिक्रिया दी है। ESPN cricinfo से बात करते हुए विराट कोहली को कप्तानी से हटाने के सवाल पर गंभीर ने कहा, ‘100 प्रतिशत, क्योंकि समस्या जवाबदेही को लेकर है। 8 साल हो गए टूर्नामेंट में बिना ट्रॉफी के। 8 साल बहुत होते हैं। आप मुझे किसी और कप्तान के बारे में बताइए, कप्तान छोड़िए, किसी खिलाड़ी के बारे में बता दीजिए, जिसको 8 साल हुए हो और वो बिना ट्रॉफी जीते हुए भी खेल रहा हो। इसलिए, जवाबदेही जरूरी है।’

अश्विन का दिया उदाहरण

गंभीर(Gautam Gambhir) ने इस मौके पर किंग्स इलेवन पंजाब की कप्तानी कर चुके रविचंद्रन अश्विन का उदाहरण देते हुए इस बात को समझाने की कोशिश की। उन्होंने बताया कि कैसे आर अश्विन ने किंग्स इलेवन पंजाब के लिए 2 साल कप्तानी की और विफल होने के बाद आखिरकार उन्हें भी कप्तानी से हटा दिया गया। जिसके बाद दिल्ली कैपिटल्स ने आर अश्विन को अपनी टीम में शामिल किया। वहीं उन्होंने टूर्नामेंट की सबसे सफल टीम मुंबई इंडियंस का भी उदाहरण दिया। गंभीर ने कहा कि अगर रोहित शर्मा भी अपनी टीम को ट्रॉफी जिताने में असफल रहते तो उनका भी वही हश्र होता जो आर अश्विन का हुआ था।

यह भी पढ़े

आपको बता दें कि आईपीएल के 13वें सीजन में विराट कोहली की अगुवाई वाली रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु ने शानदार प्रदर्शन किया था लेकिन टूर्नामेंट के अंतिम पड़ाव पर पहुंचते-पहुंचते टीम का कुनबा एक बार फिर बिखर गया और उसका चैंपियन बनने का सपना भी टूट गया।

Facebook Comments