IIT Gandhinagar Research : कोरोना टेस्टिंग बढ़ाने के लिए सरकार ने भले ही कोरोना टेस्ट के दाम को काम कर दिया हो लेकिन अभी भी इसकी प्रक्रिया से लोग खुश नहीं है। मालूम हो कि, कोरोना का टेस्ट करवाना एक दर्दनाक प्रक्रिया है। इसलिए भी बहुत से लोग इस टेस्ट को करवाने से कतराते हैं। आजतक की एक रिपोर्ट के अनुसार अब इसका एक तरीका आईआईटी गांधीनगर के कुछ शोधकर्ताओं (IIT Gandhinagar Research) ने निकाल लिया है। इन शोधकर्ताओं ने ऐसा दावा किया है कि, महज छाती के X-ray द्वारा ही कोरोना का टेस्ट किया जा सकता है। आइये जानते हैं आखिर क्या है ये पूरा मामला।

आईआईटी गांधीनगर के एम्.टेक के छात्रों ने किया दावा

Gandhinagar IIT Mtech Student Give Details
Image source – Webmd.com

आपको बता दें कि, आईआईटी गांधीनगर के एम्.टेक के छात्रों ने ये दावा किया है कि, X-ray के माध्यम से भी पता लगाया जा सकता है कि, किसी व्यक्ति को कोरोना है या नहीं। गौरतलब है कि, शोध करने वाले एम्.टेक के इन छात्रों के दावों में उनके प्रोफेसर भी उनका साथ दे रहे हैं। इस विशेष शोध में शामिल आईआईटी गांधीनगर के एक शोधकर्ता प्रोफेसर कृष्णा मियापुरम के अनुसार, किसी व्यक्ति में कोरोना है या नहीं इसका पता लगाने के लिए उन्होनें एक अर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पर आधारित एक सॉफ्टवेयर बनाया है। बता दें कि, यह एक ऑनलाइन मशीन है जो कोरोना से संक्रमित व्यक्ति का पता X-ray के माध्यम से लगा सकता है। गौरतलब है कि, गांधीनगर आईआईटी के इन शोधकर्ताओं का कहना है कि, कोरोना के अर्ली टेस्टिंग के लिए इसका उपयोग किया जा सकता है।

गांधीनगर आईआईटी के इस छात्र ने बनाया X-ray उपकरण

IIT Student Design xRay Machine of Coronavirus
Image Source – Healthline.com

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, गांधीनगर आईआईटी एम्.टेक के छात्र कुशपाल सिंह यादव ने इस X-ray उपकरण को डेवेलप करने का बेहतरीन काम किया है। इस X-ray उपकरण को विशेष रूप से कोरोना टेस्टिंग की सुविधा से लैस किया गया है। इस बारे में कुशपाल सिंह यादव का कहना है कि, कोरोना टेस्टिंग के लिए ऐसे ठोस X-ray उपकरण को बनाने के लिए विशेष रूप से ख़ास एल्गोरिदम आकड़ों की आवश्यकता होती है। उन्होनें कोरोना की टेस्टिंग के लिए इस उपकरण को उपयोगी होने का दावा किया है। इस शोध में शामिल सभी शोधकर्ताओं का कहना है कि, इस X-ray उपकरण का इस्तेमाल बड़े स्तर पर कोरोना टेस्टिंग के लिए किया जा सकता है। गौरतलब है कि, गुजरात में कोरोना वायरस का संक्रमण काफी ज्यादा है, खासतौर से इस वायरस ने अहमदाबाद को काफी ज्यादा प्रभावित किया है। जानकारी हो कि, अहमदाबाद में कोरोना से मरने वालों की संख्या काफी ज्यादा है। वहां डेथ रेट को लेकर राज्य सरकार काफी चिंतित है।

यह भी पढ़े

अब ऐसे हालात में कोरोना टेस्टिंग के लिए X-ray उपकरण का इस्तेमाल काफी लाभकारी साबित हो सकता है। बहरहाल गांधीनगर आईआईटी (IIT Gandhinagar Research) के छात्रों द्वारा बनाया गया यह उपकरण कोरोना टेस्टिंग में कितना प्रभावशाली होता है इसका परीक्षण होना अभी बाकी है।

Facebook Comments