Covid Care Center: देश में कोरोना वायरस के बढ़ते मामले को देखते हुए रेलवे की तरफ से बड़ा ऐलान किया गया है। जी हां, रेलवे ने ट्रेनों के कोच को आइसोलेशन वार्ड में बदला है। दरअसल, कोरोना के मरीज़ों की संख्या में दिन ब दिन भारी इजाफा हो रहा है, जिसकी वजह से अस्पताल और बेड्स की कमी हो रही है, ऐसे में भारतीय रेलवे की तरफ से बड़ा फैसला लिया गया। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने इस संदर्भ में कई ट्वीट्स किए हैं।

मिली जानकारी के मुताबिक, भारतीय रेल ने कोरोना मरीजों को क्वारनटीन करने के लिए अतिरिक्त इंफ्रास्ट्रक्चर के तौर पर 5231 कोच तैयार किए हैं, जिन्हें राज्य सरकारों के अनुरोध पर तैनात किया जाएगा। बता दें कि देश भर में अब कोरोना के मामले बेकाबू होते जा रहे हैं, ऐसे में रेलवे द्वारा उठाए गए इस फैसले का हर कोई सम्मान कर रहा है।

राज्य सरकार मुहैया कराएंगी चिकित्सा सुविधा

Coach converted into Covid Care Center
Image Source – Economictimes.com

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने इस मामले की जानकारी देते हुए ट्वीट किया कि कोविड केयर सेंटर में तब्दील ट्रेनों के कोचों के रखरखाव की जिम्मेदारी रेलवे की होगी, लेकिन चिकित्सा सुविधा राज्य सरकारों द्वारा मुहैया कराई जाएंगी। बता दें कि यह फैसला लेने से पहले रेलवे ने नीति आयोग और स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के साथ चर्चा की, जिस पर सहमति बनने के बाद ही इसे लागू किया जाने की तैयारी शुरु हो चुकी है।

News Source: Aaj Tak

यह भी पढ़े

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो नीति आयोग व स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार Non-AC डिब्बे AC डिब्बों की तुलना में कोविड-19 नियंत्रण के लिए अधिक कारगर हैं, जिसकी वजह से रेलवे ने Non-AC डिब्बों को कोविड सेंटर में तब्दील करने का फैसला लिया है। बता दें कि रेलवे द्वारा आइसोलेटेड कोचों की छत पर हीट रिफ्लेक्टिव पेंट के साथ पेंट किया गया, ताकि तापमान को 2.2 डिग्री सेल्सियस तक कम किया जा सकता है। इसकी पुष्टि परीक्षण के दौरान भी किया गया।

Facebook Comments