Mirzapur: मिर्ज़ापुर सीजन वन के बाद अब दर्शकों को बेसब्री से मिर्ज़ापुर सीजन 2 का इंतज़ार है। जब से मिर्ज़ापुर 2 का टीज़र रिलीज़ हुआ है दर्शकों में इसे लेकर उत्सुकता और भी ज्यादा बढ़ गई है। मिर्ज़ापुर के मशहूर होने में इस सीरीज़ में पात्रों के डायलॉग का भी अहम् रोल है वो फिर कालीन भैया का हो या फिर गुड्डू बबलू का। यहाँ हम आपको इस सीरीज़ के कुछ अहम डायलॉग से एक बार फिर से रूबरू करवाने जा रहे हैं। तो आइये जानते हैं किस डायलॉग से जीता दर्शकों का दिल।

मिर्ज़ापुर से गुड्डू भैया के इस डायलॉग ने काफी धमाचौकड़ी मचाई थी

Image Source – Primevideo.com

अगर आप एक हार्डकोर मिर्ज़ापुर फैन हैं तो आपको सीजन के पहले भाग से अली फज़ल उर्फ़ गुड्डू भैया का यह डायलॉग(Mirzapur Famous Dialogues) जरूर याद होगा, “शुरू मजबूरी में किए थे, अब मज़ा आ रहा है।” यह डायलॉग आज भी काफी ज्यादा मशहूर है, असल में यह उन लोगों पर फिट बैठता है जिन्होनें किसी काम की शुरुआत मजबूरी में की हो लेकिन बाद में उन्हें उसी काम में मज़ा आने लगे। इसके साथ ही पंकज त्रिपाठी उर्फ़ कालीन भैया का भी एक डायलॉग बेहद पसंद किया गया, “डर की यही दिक्कत है कि कभी भी खत्म हो सकता है।”

मिर्ज़ापुर(Mirzapur) के इन डायलॉग ने भी खूब बटोरी वाहवाही

Amazon Prime Series Mirzapur Dialogues
Image Source – Amazon

मिर्ज़ापुर(Mirzapur) सीजन वन में कालीन भैया बने पंकज त्रिपाठी के कुछ डायलॉग को लोगों ने बेहद पसंद किया है उन्हीं में से है, “इज़्जत नहीं करते हैं डरते हैं सब।” इसके अलावा इस सीरीज में गुड्डू पंडित का किरदार निभाने वाले अली फज़ल की एक्टिंग के साथ ही उनके डायलॉग भी बेहद ख़ास थे, “अब सांप आके घर में दोस्ती करले, रहता तो जहरीला ही है ना ।” अली का यह डायलॉग भी लोगों ने खूब पसंद किया। इसके साथ ही अली फज़ल पर भी एक डायलॉग मारा गया था, “ये जो वनमानुष जैसा शरीर बना रहे हैं ना, ये एकदम मैच करता है आपकी बुद्धि से दोनों की दोनों मोटी।” इस डायलॉग ने भी दर्शकों की खूब तालियां बटोरी।

यह भी पढ़े

कालीन भैया का एक डायलॉग, “तुम्हारे पास है ही क्या जो खींच लें”, भी काफी मशहूर हुआ था। मिर्ज़ापुर(Mirzapur) सीजन टू 23 अक्टूबर को अमेज़न प्राइम पर रिलीज़ होने जा रहा है। इस बार कुछ नए अभिनेता भी इस सीरीज़ में नजर आएंगे जैसे, अमित सियाल, ईशा तलवार, विजय वर्मा औरवर्मा और प्रियांशु पेनयुली।

Facebook Comments