गुरुवार को भारत के नए संसद भवन(New Parliament Building) की आधारशिला रखी गई। इस मौके पर पीएम नरेंद्र मोदी ने वर्तमान संसद भवन की तारीफ करते हुए कहा कि “हमारे देश का निर्माण और संविधान इसी संसद भवन से बना था। संसद भवन ने देश का हर एक चेहरा देखा है। चाहे वह देश का उतार-चढ़ाव हो या फिर सफर हो। यह सांसद हमारी धरोहर है लेकिन सांसद को और शक्तिशाली बनाने के लिए हमें इसे थोड़ा सा अपग्रेड करना पड़ेगा। हमें यह स्वीकार करना पड़ेगा कि यहां संसद भवन अब थोड़ा सा पुराना हो गया है। तो अगर हमारा देश अपग्रेड हो रहा है तो इस संसद को भी अपग्रेड होना है”

पीएम मोदी ने अपने संवाद में क्या-क्या कहा

उन्होंने आगे यह भी कहा कि “वक्त के साथ इस संसद भवन को अपग्रेड करने की कोशिश की गई थी। चाहे वह साउंड हो, आईटी, सुरक्षा सिस्टम हो, हर एक चीज को अपडेट किया गया है। कई बार ऐसा भी हुआ है कि संसद भवन(Parliament Building) की दीवारों को तोड़ा गया है पर अब यह भवन विश्राम मांग रहा है”। पीएम मोदी(PM Narendra Modi) ने यह भी कहा कि “नए संसद भवन में कई चीजों को अपडेट किया जा रहा है, जिससे कि सांसद की क्षमता बढ़ेगी, कल्चर में सुधार होगा। संसद में नई तकनीक भी आएगी, कोई संसद में मिलने आता है तो उन्हें बहुत तकलीफ होती है। संसद भवन में स्थान की बहुत कमी है लेकिन नए संसद भवन(New Parliament Building) में ऐसी व्यवस्था होगी कि हर सांसद अपने संसदीय क्षेत्र से मिलने वाले लोगों से मिल सकेंगे”

PM Modi On Central Vista Project
Image Source – [email protected]

पीएम मोदी ने आगे यह भी कहा कि “नया संसद भवन(New Parliament Building) आत्मनिर्भर भारत का गवाह बनेगा। पुराने भवन से देश की आवश्यकता जरूर पूर्ति हुई लेकिन नए संसद भवन से 21 वी सदी की आकांक्षाएं पूरी होंगी। हम अपनी आजादी के 75 वर्ष का पर्व मनाए तो उस पर्व का साक्षात प्रेरणा हमारा सांसद की नई इमारत बने। पीएम मोदी ने यह भी कहा कि “नए संसद भवन से हम अपने लोकतंत्र के गौरव का गुणगान जरूर कर पाएंगे और दुनिया भी कहेगी कि इंडिया इज मदर ऑफ डेमोक्रेसी”

यह भी पढ़े

पीएम ने यह भी कहा कि “राष्ट्र के विकास के लिए राज्य का विकास बहुत जरूरी होता है। राष्ट्र की मजबूती के लिए राज्य मजबूत होना बहुत जरूरी होता है इसीलिए राष्ट्र और राज्य दोनों एक दूसरे को सपोर्ट करें यह बहुत जरूरी है। सिद्धांत के साथ हम आगे काम करेंगे और प्रण लेना है हमें कि हम यह संसद बनाने का संकल्प पूरा करें। हम सिर्फ और सिर्फ भारत की उन्नति के बारे में सोचेंगे और भारत के विकास के बारे में सोचेंगे। हमारा हर फैसला देश के हित में होगा देश की ताकत बढ़ाएगा और देश के लिए ही सर्वोपरि होगा”।

Facebook Comments