भारतीय अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव(International Film Festival Of India) का आयोजन हर साल 20 से 28 नवंबर के बीच गोवा में किया जाता है। इस बार कोरोनावायरस के फैले होने की वजह से यह आयोजन अगले साल 16 से 24 जनवरी तक होने वाला है।

आईएफएफआई ने की घोषणा

वर्ष 2020 के लिए भारतीय पैनोरमा फिल्मों की सूची की घोषणा 51वें भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव(International Film Festival Of India) यानी कि आईएफएफआई की तरफ से कर दी गई है। इस सूची को देखकर यह साफ पता चल रहा है कि क्षेत्रीय भाषाओं की फिल्मों ने इसमें अपना दबदबा बना लिया है।

प्रकाश जावड़ेकर ने दी जानकारी

Prakash Javadekar Announced The International Film Festival News
Image Source – Ndtv

केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावेडकर की तरफ से 23 फीचर फिल्म और 20 गैर फीचर फिल्मों के नामों के बारे में जानकारी दी गई है, जिनका प्रदर्शन फिल्म महोत्सव(International Film Festival Of India) के दौरान होने वाला है। फीचर श्रेणी के तहत जिन 23 फिल्मों के नामों की घोषणा की गई है, उनमें से 18 फिल्में क्षेत्रीय भाषा की हैं।

ये क्षेत्रीय फिल्में हैं शामिल

‘सेफ’ (मलयालम), ‘प्रवास’ (मराठी), ‘इगी कोना’ (मणिपुरी), ‘कलिरा अतिता’ (ओडिया), ‘ब्रिज’ (असमिया), ‘गाथम’ (तेलुगु) ‘अविजात्रिक’ (बांग्ला), ‘ए डॉग एंड हिज मैन’ (छत्तीसगढ़ी), ‘पिंकी एली’ (कन्नड़) और ‘थाईन’ (तमिल) जैसी फिल्में इनमें शामिल हैं।

सुशांत की फिल्म

Chhichhore Film For International Film Festival Of India
Image Source – Indiatimes.com

नितेश तिवारी की छिछोरे और असुरन एवं मलयालम फिल्म कप्पेला मुख्यधारा की फिल्मों में शामिल हैं। सुशांत सिंह राजपूत(Sushant Singh Rajput) फिल्म छिछोरे में नजर आए थे।

यह भी पढ़े

शुरुआत इस फिल्म से

फीचर फिल्म खंड में सबसे पहले तापसी पन्नू और भूमि पेडणेकर की फिल्म सांड की आंख दिखाई जाएगी, जिसका निर्देशन तुषार हीरानंदानी ने किया है। इसके अलावा गोविंद निहलानी की अंग्रेजी एनिमेशन अप, अप एंड अप एवं वेत्री मारन की तमिल फिल्म असुरन भी इस दौरान दिखाई जाने वाली है। फिल्मों का चयन फिल्मकार और लेखक जॉन मैथ्यू मथन की अध्यक्षता वाली जूरी ने किया है।

Facebook Comments