Corona: भारत में कोरोना वायरस से अब तक 437 लोगों की मौत हो चुकी है और इससे संक्रमित होने वालों की संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। अब तक करीब 13000 से ज्यादा लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। वहीं 14 अप्रैल को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना के मामलों को कम करने के लिए 21 दिन का लॉकडाउन 3 मई तक बढ़ा दिया है। दुनियाभर में अब तक इस संक्रमण से पीड़ित 1 लाख से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। विश्व के कई देशों का डेटा लेकर यह अनुमान लगाने का प्रयास किया जा रहा है कि इस संक्रमण के चलते कितनी मौतें हो सकती हैं। ऐसी ही एक स्टडी में दावा किया गया है कि भारत अपने असली आंकड़ों पर पर्दा डाले हुआ है।

क्या कहती है रिसर्च? (Corona Virus)

रिसर्च में दावा किया गया है कि भारत में Corona पॉजिटिव के जो आंकड़े सामने आ रहे हैं, वे उससे कई ज्यादा हैं और मरने वालों के भी आंकड़े ज्यादा हैं। लंदन की इंपीरियल कॉलेज में की गई ये रिसर्च में दावा किया गया है कि ये वायरस साइंलेंट तरीके से लोगों को अपनी चपेट में ले रहा है। कई लोगों में इसके लक्षण काफी देरी से दिखते हैं। ऐसे में रिसर्च के मुताबिक 22 मार्च से लेकर अगले 7 दिनों तक भारत में संक्रमित लोगोंं की संख्या 16,800-23,600 के बीच थी। लेकिन सरकार ने इन आंकड़ों पर पर्दा डालते हुए सिर्फ 2395 संक्रमित लोगों का आंकड़ा सामने किया। इस रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि 11 अप्रैल तक भारत में करीब 600 से ज्यादा लोगों की मौत हो जाएगी। लेकिन पिछले शनिवार यह आंकड़ा केवल 288 पर था।

यह भी पढ़े WHO का नया बयान, कोरोना को बताया इस फ्लू से भी ज्यादा खतरनाक !

क्या सच में सरकार छुपा रही आंकड़े?

रिसर्च की मानें तो ये आंकड़े इसलिए भी कम आ रहे हैं क्योंकि कुछ लोगों में कोरोना संक्रमण के लक्षण देरी से पता चल रहे हैं। देरी से पता चलने पर मरीजों को पहले टेस्ट नहीं किया जाता। इसके अलावा देश में कोरोना की टेस्टिंग भी काफी कम हो रही है। 130 करोड़ आबादी वाले देश में एक एक व्यक्ति की टेस्टिंग कर पाना मुश्किल हैै। इसीलिए सिर्फ उन्हीं लोगों की टेस्टिंग की जा रही है जो इसके लक्षण महसूस कर रहे हैैं।

क्या है संक्रमण बढ़ने की रफ्तार

जब भारत में लॉकडाउन नहीं हुआ था तब इससे संक्रमित मरीजों का एवरेज रेट 4 था यानी अनुपात 4 था, लेकिन अब ये घटकर 3 पर पहुंच गया हैै। मतलब हर एक संक्रमित मरीज़ से 3 लोग संक्रमित हो रहे हैं। कोरोना को फैलने से रोकने के लिए यह सुनिश्चित करना होगा कि ये अनुपात 3 से घटकर 1 पर आ जाए।

Facebook Comments