Coronavirus Vaccine: कोरोना पर विजय पाने के लिए भारत पूरी तरह से तैयार नजर आ रहा है। अपने देश में बनाई जाने वाली कोरोना वायरस की वैक्सीन कोवैक्सीन (Covaxin) को जल्द से जल्द लॉन्च करने की तैयारी की जा रही है। भारत बायोटेक के अंतर्गत बन रही इस वैक्सीन का ट्रायल इसी महीने से इंसानों पर शुरू किया जा सकता है। एनडीटीवी की एक रिपोर्ट के अनुसार कोवैक्सीन के क्लीनिकल ट्रायल को पूरा करने के निर्देश इंडियन कौंसिल ऑफ़ मेडिकल रिसर्च ने दे दिए हैं। इस वैक्सीन को संभवतः अगस्त में लॉन्च किया जा सकता है। आइए जानते हैं इस वैक्सीन से जुड़ी सभी महत्वपूर्ण तथ्यों के बारे में।

कोवैक्सीन का ह्यूमन ट्रायल करने की मिली अनुमति

Covaxin Coronavirus Vaccine trials on humans
Image Source – Timesofindia.com

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, कोरोना वायरस की वैक्सीन (Coronavirus Vaccine) बनाने वाली हैदराबाद की कंपनी भारत बायोटेक को इस वैक्सीन का ह्यूमन ट्रायल शुरू करने की इजाज़त मिल गई है। इंडियन कौंसिल ऑफ़ मेडिकल रिसर्च के महानिदेशक डॉक्टर बलराम भार्गव ने अपने लिखित एक चिट्ठी के द्वारा इसकी जानकारी दी है कि, सात जुलाई से कोवैक्सीन का ह्यूमन ट्रायल शुरू किया जाए। जानकारी हो कि, उन्होनें अपनी इस चिट्ठी में इस बात पर विशेष जोर दिया है कि, ह्यूमन ट्रायल में कसी भी प्रकार की देरी ना हो पाए। गौरतलब है कि, भरत में बनने वाली इस वैक्सीन को बनाने में आईएमसीआर और भारत बायोटेक की बराबर साझेदारी है।

15 अगस्त पर हो सकती है कोवैक्सीन की लॉन्चिंग

Image Source – Vox.com

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, इंडियन कौंसिल ऑफ़ मेडिकल रिसर्च द्वारा भारत बायोटेक को जल्द से जल्द कोवैक्सीन (Covaxin) की ह्यूमन ट्रायल शुरू करने की इजाज़त इसलिए दी गई है ताकि इस वैक्सीन को 15 अगस्त के मौके पर भारत में लॉन्च किया जा सके। बता दें कि, इससे पहले भारत सरकार द्वारा स्वदेशी कोविड-19 (Covid-19) की वैक्सीन को 30 जून को ही ह्यूमन ट्रायल करने की अनुमति दी थी। इस संबंध में विशेष जानकारी देते हुए भारत बायोटेक ने एक बयान जारी कर बताया भी था कि, उन्होनें कोविड-19 की वैक्सीन को इंडियन कौंसिल ऑफ़ मेडिकल रिसर्च और राष्ट्रीय विषाणु विज्ञान संस्थान द्वारा मिलकर बनाया है। बहरहाल इस वैक्सीन के ह्यूमन ट्रायल शुरू करने के लिए कंपनी को भारतीय औषधि महानियंत्रक की तरफ से भी अनुमति मिल गई है। आपको बता दें कि, भारत में इस समय कोरोना वायरस को ख़त्म करने के लिए भारत बायोटेक के द्वारा बनाई कोवैक्सीन के अलावा एक अन्य कंपनी को भी वैक्सीन तैयार करने की अनुमति मिल गई है। जानकारी हो कि, ड्रग कंट्रोलर ऑफ़ इंडिया ने कोरोना वायरस की वैक्सीन बनाने के लिए जाइडस कैडिला नाम की फ़ार्मास्यूटिकल कंपनी को भी इजाज़त दे दी है। गौरतलब है कि, इस कंपनी को कोविड-19 वैक्सीन के पहले और दूसरे चरण के ह्यूमन ट्रायल की अनुमति भी मिल गई है।

यह भी पढ़े

लिहाजा कुछ वक़्त के इंतजार के बाद मार्केट में इस खतरनाक वायरस का वैक्सीन आम लोगों के लिए उपलब्ध हो सकता है। कोरोना से लड़ाई मुश्किल है लेकिन असंभव नहीं।

Facebook Comments