Lockdown 4 Karnataka: देशभर में लॉकडाउन के चौथे चरण की शुरुआत हो चुकी है, जो कि नए रंग रुप वाला है। लॉकडाउन को लेकर गृह मंत्रालय की तरफ से जारी गाइडलाइंस को फॉलो राज्य सरकार को करना पड़ेगा।इसके अलावा राज्य सरकार को यह अधिकार दिए गए हैं कि वे अपने राज्य में कितनी ज्यादा छूट के साथ आर्थिक गतिविधि को शुरु कर सकते हैं, जिसको लेकर तमाम राज्य सरकारों ने अपनी गाइडलाइंस जारी कर दी है। तो चलिए जानते हैं कि किन राज्यों में क्या क्या छूट दी गई है?

कर्नाटक में कितनी मिली छूट?

lockdown 4 karnataka rules
Money Control

कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने लॉकडाउन 4 को लेकर गाइडलाइंस जारी कर दी है। उन्होंने प्रदेश में बसों और ट्रेनों को चलाने की अनुमति दे दी है। हालांकि, गाइडलाइन में यह भी कहा गया है कि प्रत्येक रविवार को पूर्ण पाबंदी रहेगी। राज्य सरकार ने कोरोना को फैलने से रोकने के लिए 31 मई तक गुजरात, महाराष्ट्र और तमिलनाडु के लोगों के कर्नाटक में एंट्री पर रोक लगा दी है।

न्यूज़ एजेंसी ANI के अनुसार, राज्य की बीएस येदियुरप्पा सरकार ने 18 मई से रेड, ऑरेंज और ग्रीन जोन में सभी दुकानों को सोशल डिस्टेंसिंग के साथ खोलने की परमिशन दे दी है। साथ ही ऑटो, रिक्शा आदि को भी चलाने की अनुमति मिली है। सैलून और स्पा खोलने के भी आदेश दिए गए हैं। हालांकि कोरोना हॉटस्पॉट इलाके में कोई छूट मिली नहीं है।

पंजाब में कितनी छूट मिली?

पंजाब सरकार ने राज्य में कर्फ्यू और लॉकडाउन की अवधि में और ढील देने का फैसला किया है, जिसके तहत 18 मई से राज्य में सभी दुकानें सुबह 7 से शाम 6 बजे तक खुली रहेंगी। इतना ही नहीं, राज्य सरकार ने ऑटो और रिक्शा चलाने की भी अनुमति दे दी है, लेकिनसोशल डिस्टेंसिंग का खास खयाल रखना होगा। हालांकि, कोरोना हॉटस्पॉट इलाके में ऐसी कोई भी छूट नहीं दी गई है।

बता दें कि पंजाब सरकार ने कंटेनमेंट जोन के अलावा इंडस्ट्री, दफ्तर, कन्स्ट्रक्शन, बस, बाजार, ऑटो, दुपहिया, नाई, चौपहिया बिना परमिट वाहन को सुबह 7 बजे से शाम 6 बजे तक खोलने का फैसला लिया है, ताकि अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाया जा सके।

असम में कितनी छूट?

असम सरकार ने भी राज्य में गृह मंत्रालय की गाइडलाइन के तहत छूट दी है, लेकिन पहले की तरह पाबंदियां लागू रहेंगी। कुल मिलाकर, असम में अभी कोई ज्यादा रियायत नहीं दी गई है, ऐसे में यहां लोगों को पाबंदियों के साथ ही जीना पड़ेगा। कोरोना वायरस के मामलों पर गौर करें, तो कुल 87 केस हैं, जबकि 2 लोगों की मौत हो चुकी है। ऐसे में सरकार छूट देने के मूड में नहीं है।

तमिलनाडु में कितनी मिली छूट?

कोरोना वायरस को रोकने के लिए तमिलनाडु की सरकार ने लॉकडाउन को 31 मई तक बढ़ा दी है। इसके साथ ही गृह मंत्रालय की गाइडलाइन के अनुसार छूट दी गई है, बाकी कोई राहत यहां नहीं दी गई है। बता दें कि तमिलनाडु कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्यों में से एक है, ऐसे में सरकार ने सख्ती बरतना ही सही समझा।


Facebook Comments