Kashmir is a Part of Pakistan Claims Taliban: कश्मीर भारत का एक ऐसा हिस्सा है जहाँ पर हुकूमत भले ही भारत की हो लेकिन लोगों के दिलों में भारत सरकार की छवि अच्छी नहीं है। इसी का फायदा हमेशा से पाकिस्तान उठाता आया है। कश्मीर में आतंकवादी गतिविधियों को अंजाम देने में पाकिस्तान के साथ ही साथ तालिबान की भी विशेष भूमिका रही है। अब जरा सोचिये जो तालिबान हमेशा से ही कश्मीर के पीछे पड़ा हुआ था, वो अचानक से कश्मीर को भारत का हिस्सा कैसे बता सकता है। सोशल मीडिया पर वायरल एक वीडियो की माने तो इसमें तालिबान ने कश्मीर समस्या को हिन्दुस्तान का आंतरिक मुद्दा बताया है। आइये आपको बताते हैं क्या है ये पूरी खबर और कितनी सच्चाई है इस बात में।

kashmir is a part of pakistan claims taliban
Zeenews

सोशल मीडिया पर तालिबान का ये बयान काफी ट्रेंड कर रहा है

आपको बता दें कि, सोशल मीडिया पर शेयर किए गए तमाम पोस्ट में तालिबान की राजनीतिक पार्टी के प्रवक्ता सुहैल शाहीन का ट्वीट काफी वायरल हो रहा है। इस ट्वीट में सुहैल साहिल ने लिखा है कि, कश्मीर के जिहाद में तालिबान शामिल नहीं है। गौरतलब है कि, इस ट्वीट में साफतौर पर लिखा गया है कि, तालिबान की पार्टी इस्लामिक अमीरात की नीति बिल्कुल साफ़ है, वो दूसरे देशों के आंतरिक मामलों में हाथ नहीं डालते हैं। तालिबान के इस बयान का मतलब कश्मीर मुद्दे से संबंधित माना जा रहा है। सोशल मीडिया पर वायरल इस पोस्ट की माने तो, इसमें ऐसे दावे किए जा रहे हैं कि, तलिबान के प्रवक्ता ने भारत से दोस्ती की बात को तब तक के लिए नामुमकिन बताया है जब तक कश्मीर मुद्दा सुलझ नहीं जाता। हालाँकि सोशल मीडिया पर वायरल एक अन्य पोस्ट में यह कहा जा रहा है कि, तालिबान ने बयान जारी कहा है कि, वो काबुल में अपनी सत्ता स्थापित करने के बाद भारत से कश्मीर भी छीन लेंगें। अब गौर करें तो ये दोनों ही बयान एक दूसरे के बिल्कुल विपरीत है।

तालिबान का कौन सा बयान सच और कौन सा झूठ (Kashmir is a Part of Pakistan Claims Taliban)

तालिबान के ये दोनों ही बयान काफी ज्यादा चौंकाने वाले हैं। लेकिन अब भारत को ये पता करना था कि, आखिर इन दोनों बयानों में से कौन सा बयान सच है और कौन सा झूठ। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार तालिबान के इन पोस्ट की सच्चाई को जानने के लिए भारत ने जब तालिबान से संपर्क किया तो, तालिबान ने सोशल मीडिया ओर जारी अपने तमाम पोस्ट को फर्जी बताया। मतलब साफ़ है कि, किसी ने तालिबान के प्रवक्ता की आई डी ट्विटर पर बनाकर ये सभी पोस्ट शेयर किये। बहरहाल सोशल मीडिया पर तालिबान के जो पोस्ट इन वायरल हो रहे थे वो सभी फ़र्ज़ी थे। तालिबान अभी भी कश्मीर को हथियाने की फ़िराक में है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि,कश्मीर मसले पर तालिबान हमेशा ही पाकिस्तान के साथ रहा है। अगर ऐसे में वो काबुल पर सत्ता हासिल कर लेता है तो तालिबान और पाकिस्तान दोनों मिलकर कश्मीर में तबाही मचा सकते हैं। तालिबान का सामना करने के लिए भारत और अमेरिका साथ खड़े हो सकते हैं।

Facebook Comments