Punjab Government Teachers Duty in Liquor Factory: पंजाब के गुरदासपुर में डीसी ने शराब की फैक्ट्रियों और भट्टियों में बनाई जा रही शराब पर निगरानी रखने के लिए सरकारी टीचर्स की ड्यूटी लगाई है। उन्होने शराब की अवैध सप्लाई और तस्करी रोकने के लिए भी टीचर्स को सर्वे करने के निर्देश दिए हैं। लेकिन, ज्वाइंट टीचर्स एसोसिएशन ने इस आदेश को मानने से साफ इनकार कर दिया है।

एक तरफ कोरोना वायरस के फैलने से सब जगह हाहाकार मचा हुआ है और इस बीच पंजाब में गुरदासपुर के डिप्टी कमिश्नर के एक आदेश को लेकर बड़ा विवाद खड़ा हो गया है। दरअसल, गुरदासपुर के डीसी ने एक आदेश जारी किया जिसमें स्थानीय सरकारी टीचरों को शराब की फैक्ट्रियों और भट्टियों में काम करने के निर्देश दिए गए। इस आदेश से सभी टीचर खासे नाराज़ नज़र आ रहे हैं।

punjab government teachers duty in liquor factory
Yahoo


सूत्रों के मुताबिक, शराब की फैक्ट्रियों और भट्टियों में बनाई जा रही शराब पर निगरानी रखने और शराब की अवैध सप्लाई व तस्करी को रोकने के लिए टीचर्स को तैनात करने और सर्वे करने के निर्देश दिए गए हैं। लेकिन, ज्वाइंट टीचर्स एसोसिएशन ने इसपर कड़ी आपत्ति जताते हुए इस आदेश को मानने से साफ इनकार कर दिया। एसोसिएशन के मुताबिक टीचर का पद एक बेहद सम्माननीय पद है। टीचरों से शराब की फैक्ट्रियों में काम करवाना इस पद का अपमान करने जैसा है। ऐसे में डीसी को अपने इस आदेश को जल्द से जल्द ख़ारिज कर देना चाहिए।

हालांकि, इस आदेश के अनुसार यदि कोई टीचर अपनी ड्यूटी पर नहीं पहुंचत है या इसे करने से इनकार कर देता है तो उसके खिलाफ धारा 188 के तहत एक्शन लिया जा सकता है। मामले की संजीदगी को देखते हुए टीचर्स एसोसिएशन ने डीसी को चिट्ठी भी लिखी है। फिलहाल एसोसिएशन की आपत्ति पर डीसी दफ्तर की ओर से किसी भी प्रकार की कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है।

7 मई से घर-घर पहुंचाई जा रही है शराब

7 मई से पंजाब सरकार ने शराब की होम डिलिवरी के आदेश जारी किए थे। लॉकडाउन के दौरान, यह आदेश दिया गया था कि एक व्यक्ति को सिर्फ दो लीटर शराब ही डिलिवर की जाएगी। गौरतलब है कि पंजाब के बाद अब पश्चिम बंगाल की सरकार ने भी शराब की होम डिलिवरी शुरू करने का फैसला किया है और यहां भी वेबसाइट पर जाकर होम डिलिवरी का ऑर्डर दे सकते हैं।

पंजाब में कोरोना के अब तक कुल कितने केस? (Punjab Coronavirus Case)

पंजाब में कोरोना संक्रमित मरीजों की कुल संख्या अब 2014 हो गई है। हालांकि, बुधवार को 152 लोग स्वस्थ होकर अपने घर भी लौट गए। कोरोना को अब तक कुल 1794 लोग मात भी दे चुके हैं। वहीं, बुधवार को ही कोरोना से जालंधर में एक महिला की मौत हो गई, जबकि 12 नए केस सामने आए हैं। इसी के साथ राज्य में इस बीमारी से अब तक कुल 39 लोग अपनी जान गवा चुके हैं।

किन शहरों में मिले कोरोना के नए मामले?

स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, अमृतसर और जालंधर में 4-4, लुधियाना में 2 और कपूरथला, पटियाला में एक-एक कोरोना संक्रमित मामला सामने आया है। इस दौरान ठीक हुए 152 मरीजों में लुधियाना के 88, नवांशहर के 30, पटियाला के 15, फतेहगढ़ साहिब के 8, जालंधर के 4, मानसा के 3 और गुरदासपुर व पठानकोट के 2-2 मरीज शामिल हैं।

Facebook Comments