Taj Hotel Received Threat Call From Pakistan: देश का सबसे बड़ा होटल मुंबई स्थित “ताज” को बम से उड़ाने की धमकी मिली है। इस धमकी के बाद से होटल के चारों तरफ सुरक्षा काफी बढ़ा दी गई है। साल 2009 में मुंबई में हुए आतंकी हमले में ताज होटल को सबसे ज्यादा नुकसान पहुंचाया गया था। इस हमले के बाद करीबन तीन महीने के लिए होटल को बंद कर दिया गया था। अब एक बार फिर से इस तरह के धमकी भरे फोन आने के बाद काफी हड़कंप मच गया है। न्यूज़ एजेंसी एएनआई के हवाले से मिली जानकारी के अनुसार ताज होटल को बम से उड़ाने की धमकी पाकिस्तान से मिली है। आइये आपको इस बारे में विस्तार से बताते हैं।

पाकिस्तान के कराची से आया धमकी भरा फोन

Threat Call from Pakistan
Image Source – Dawn.com

आपको बता दें कि, मुंबई स्थित ताज होटल को बम से उड़ाने का धमकी भरा फोन पाकिस्तान के कराची से आया था। इस फोन कॉल के बाद से मुंबई में हड़कंप मच गया है। बताया जा रहा है कि, यह फोन कॉल पाकिस्तान के कराची शहर से किया गया था। हालाँकि अभी इस बारे में और कोई सूचना मिल पाई है कि, फोन किसने या फिर किस आतंकी ग्रुप ने किया था। चूंकि साल 2009 में ताज होटल पर आतंकी हमला हो चुका है इसलिए सुरक्षा को लेकर लोग चिंतित है। अजमल कसाब तो आप सभी को याद होगा, जिस तरह से साल 2009 में ताज होटल पर हमले के बाद लोगों की जान गई थी वो काफी दिल दहलाने वाला था। उस आतंकी घटना से मुंबई अभी तक उभर नहीं पाया है। लोगों के जहन में उस आतंकी हमले की याद अभी भी ताजा है, ऐसे में एक बार फिर से ताज होटल को बम से उड़ाने की धमकी मिलना काफी ज्यादा डराने वाली बात है।

ताज होटल में सुरक्षा के लिए किए गए ये इंतजाम

taj hotel security
Image Source – Foreignpolicy.com

बता दें कि, पाकिस्तान से ताज होटल को बम से उड़ाने की धमकी मिलने के बाद ताज होटल में सुरक्षा के इंतजाम काफी पुख्ते कर दिए गए हैं। हर एक मोड़ पर सुरक्षा कर्मियों को तैनात कर दिया है और होटल में आने जाने वाले सभी लोगों की बारीकी से जांच की जा रही है। जानकारी हो कि, ताज होटल साउथ मुंबई में स्थित है, यह काफी पॉश इलाका है। सामने समुद्र होने की वजह से मुंबई पुलिस ने तटीय इलाकों में भी चौकसी बढ़ा दी है। नौ सेना द्वारा भी मुंबई के तटीय इलाकों में विशेष नजर रखी जा रही है। आपको बता दें कि, साल 2009 में जब ताज होटल पर आतंकी हमला हुआ था, उस समय करीबन चार सौ लोग होटल के भीतर मारे गए थे।

यह भी पढ़े

इस धमकी भरे फोन कॉल ने एक बार फिर से 2009 आतंकी हमले की यादों को ताजा कर दिया है। उम्मीद है इस बार हमारे सुरक्षा कर्मी किसी भी हमले का मुंह तोड़ जवाब देने के लिए तैयार होंगें।

Facebook Comments